15.1 C
Delhi
Homeट्रेंडिंगबिहार: कोरोना की दूसरी लहर की तुलना में ज्यादा डॉक्टर और कर्मचारी...

बिहार: कोरोना की दूसरी लहर की तुलना में ज्यादा डॉक्टर और कर्मचारी तैनात

- Advertisement -

स्टेट डेस्क: तीसरी लहर को लेकर घबराने की जरूरत नहीं है। बिहार में कोरोना की दूसरी लहर की तुलना में तीसरी लहर के लिए ज्यादा डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मी तैनात कर दिये गए हैं। अस्पतालों में दिसंबर के पूर्व ही कोरोना संक्रमण की लहर को देखते हुए नयी नियुक्तियों को पूरा कर कर्मियों के पदस्थापन का कार्य पूरा कर लिया गया है।

इनमें विशेषज्ञ डॉक्टर, सामान्य डॉक्टर, नर्स एवं अन्य पारा मेडिकल कर्मी शामिल है। स्वास्थ्य विभाग ने सभी सिविल सर्जन को कहा है कि मानव संसाधन की उपलब्धता बढ़ाई गई है। इसलिए कोरोना जांच एवं टीकाकरण ठीक से करें।

इसके साथ ही ऑक्सीजन से लेकर दवाओं की उपलब्धता भी सुनिश्चित कर ली गई है। ऐसे में अधिकारियों का कहना है कि किसी को घबराने की जरूरत नहीं है। लेकिन लोगों को कोरोना प्रोटोकाल का पालन करने और सावधानियां बरतने की अपील की गई है।

विशेषज्ञ डॉक्टर नियुक्त हुए पिछले एक साल में
अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत का कहना है कि पिछली लहर की तुलना में अस्पतालों में पर्याप्त मानव संसाधन उपलब्ध है। संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए सभी अस्पतालों में भौतिक संसाधनों ऑक्सीजन, दवा इत्यादि की भी पर्याप्त व्यवस्था की गयी है। फिर भी सभी को कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने की जरूरत है ताकि परेशानी कम हो। राज्य में कोरोना की दूसरी लहर के बाद 840 विशेषज्ञ डॉक्टरों की नियुक्ति की गयी है। वहीं, 2078 सामान्य डॉक्टरों की नियुक्ति हुई है। इन सभी को अस्पतालों में तैनात कर दिया गया है।

- Advertisement -






- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -