32.1 C
Delhi
Homeट्रेंडिंगBREAKING : उन्नाव प्रशासन से नहीं हो पा रही महिलाओं की...

BREAKING : उन्नाव प्रशासन से नहीं हो पा रही महिलाओं की सुरक्षा , एक और पीड़िता को नहीं मिल पा रहा न्याय !

- Advertisement -

उन्नाव / मणिकांत मिश्रा। ये शायद जिला प्रशासन की अनुशासनहीनता और लापरवाही है की जिले में महिलाओं के खिलाफ हो रही अप्रिय घटनाओ का क्रम थमने का नाम नही ले रहा। जहा माखी कांड ने पूरे देश में सनसनी फैला दी थी वही पर आज फिर से कुछ वैसा ही मामला सामने आया है।

घटना उन्नाव जिले की सदर कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम चौरा का है , जहा आज एक महिला एसपी से न्याय की गुहार लगाती नज़र आयी। दरअसल मामले में ग्राम चौरा निवासी संजू पत्नी सतेन्द्र ने एसपी से अपनी दे हुई तहरीर पर किसी प्रकार की कार्यवाही न होने को लेकर न्याय की मांग की है । महिला ने अपने द्वारा दिए बयान में बताया की 12 जुलाई की सुबह करीब दस बजे उसी के गाँव का रहने वाला शख्स सरल कुमार पुत्र राम प्रसाद उसके घर में जबरदस्ती घुसा और उसको घर में अकेला पाकर उसके साथ ज़बरदस्ती करने की कोशिश करी और उसको गलत तरीके से छूकर उसकी इज़्ज़त के साथ खिलवाड़ करने की कोशिश करी। जब पीड़िता ने अपना बचाव करने का प्रयत्न किया तब आरोपी ने उसका ब्लाउज फाड़कर उसको ज़मीन पर पटक दिया। पीड़िता ने ये भी बताया की सरल ने उसको अभद्र गालिया भी दी और जब पीड़िता को अपने बच्छाव का कोई तरीका समझ नहीं आया तब पीड़िता ने चिल्ला कर मदद मांगने का प्रयास किया। पीड़िता की चीख पुकार सुनकर उसका पति सतेंद्र , राजू फौजी और दीपक व अन्य मोहल्ले के नज़दीकी सभी लोग वह पर आ गये , जिनको आता देख आरोपी पीड़िता को फंसे मारने की धमकी देकर वह से भाग निकला।

इस वारदात के बाद ही पीड़िता के पति ने 112 डाइल कर पुलिस को सुचना दी जिसके बाद से ही पीड़िता का आरोप है की बजाय आरोपी के खिलाफ कार्यवाही करने के , पुलिस उल्टा उससे सुलह समझौते का दबाव बना रहे है। पीड़िता ने सदर कोतवाली में प्रार्थना पत्र भी मदद की गुहार लगाई थी पर उसपर भी प्रशासन ने कोई संज्ञान नहीं लिया जिसके बाद अब पीड़िता ने आज जिले के एसपी से न्याय की दरकार है।

देखना ये है की क्या प्रशासन कोई सुध लेता है इस मामले में और मांमले की जांच कर कोई कर्यवाही करता है आरोपी पर या जिले में महिलाओं के साथ हो रहे अपराधों को बेशर्मी से देखता है।

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -