बक्सर: स्कूल बंद करने के सरकारी आदेश पर निजी स्कूलों के संचालकों व अध्यापकों ने जताई चिंता

बक्सर/प्रतिनिधि: कोरोना के बढ़ते प्रकोप को लेकर सरकार द्वारा स्कूलों बंद करने के जारी आदेश को लेकर डुमरांव व बक्सर के निजी स्कूल संचालक चितिंत हो उठे है। स्कूल बंद होने के बाद संचालको एवं स्कूल के शिक्षको के समक्ष समस्या उत्पन्न हो गई है। पब्लिक स्कूल एंड चिल्ड्रन वेलफेयर एसोसिएशन की जिला इकाई बक्सर की अगुआई में सोशल डिस्टेसिंग व मास्क का उपयोग करते हुए डुमरांव स्थित एक निजी स्कूल के परिसर में एसोशिएशन के अधिकारियों की एक महती बैठक हुई।


बैठक में जिला के सभी निजी संचालकों व अध्यापकों से फोन पर बातचीत कर सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया की सभी एक जुटता का परिचय देते हुए आंदोलन करेंगे।मौके पर जिलाध्यक्ष वैदेही श्रीवास्तव ने कहा कि कोरोना संक्रमण की आड़ में प्राइवेट स्कूलों के साथ धक्काशाही कर बच्चों का भविष्य खराब किया जा रहा है। इस दौरान उपस्थित मुख्य अतिथि जे रूप में बिहार पब्लिक स्कूल एंड चिल्ड्रन वेलफेयर एसोसिएशन के उपाध्यक्ष शिक्षाविद डॉ रमेश सिंह की अगुआई में सभी स्कूल संचालकों द्वारा मेल व लिखित पत्र सीएम को भेजकर स्कूल खुलवाने की मांग पर जोर दिया गया।

दुसरी ओर एसोसिएशन के जिला सचिव चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि पिछले साल की तरह कोरोना महामारी के डर को बरकरार रखते हुए सरकार ने दोबारा स्कूल बंद करने का आदेश जारी कर विद्यार्थियों, अभिभावकों, अध्यापक और स्कूल कर्मचारियों को परेशानी में डाल दिया है। एक तरफ सरकार सभी स्कूलो को बंद किए जाने का आदेश जारी करती है। वहीं पर सरकार द्वारा इन संस्थाओं से जुड़े लोगों को किसी भी प्रकार की कोई आर्थिक सहायता प्रद�