चंपारण: मुख्यमंत्री ने जिले में वैक्सीनेशन रेट बढ़ाने और कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग पर दिया जोर, कोरेंटाइन सेंटर बनाने का निर्देश

मोतिहारी/राजन दत्त द्विवेदी: कोविड-19 के बढ़ते खतरे को देखते हुए राज्य के सभी जिला पदाधिकारियों के साथ आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने समीक्षात्मक बैठक की। इस दौरान सीएम ने जिले में कोरोना के रोकथाम संबंधी तैयारियों की जानकारी मांगी। जिस पर मोतिहारी के डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने जिले में हुए अब तक के तमाम तैयारियों से मुख्यमंत्री को अवगत कराया। बताया कि अभी तक कुल 1106829 जांच हुई है।


अभी जिले में कुल 60 एक्टिव केस है। गांव/टोलों, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, पिछड़ी बस्तियों, मॉल्स आदि में त्वरित गति से जांच प्रक्रिया जारी है। मार्च में जिले में पॉजिटिव रेट 0.11 रहा जो राज्य के अन्य हिस्सों से काफी कम है। डायनेमिक कंटेनमेंटेंट जोन बनाने पर जोर दिया जा रहा है। जिनका स्वरूप आवश्यकता पड़ने पर बढ़ाया और घटाया जा सके।


इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री कुमार ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि जिले में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग पर जोर दें। कोरोना संक्रमण निगरानी में लगे स्वास्थ्यकर्मियों/पदाधिकारियों और उनके परिवार जनों का नियमित जांच करवाएं।


वहीं सीएम ने वैक्सिनेशन दर बढ़ाने पर जोर दिया। कहा कोविड केयर सेंटर्स की संख्या बढ़ाएं। साथ ही विशेष कोविड अस्पताल का भी निर्माण हो।
अगर किसी क्षेत्र में पॉजिटिव केस मिलता है तो 72 घंटो के अंदर उस क्षेत्र के 30-35 लोगों की जांच करते हुए त्वरित कंटेनमेंट जोन बनाया जाए। सजगता से मास्क जांच एवं लोगों में जागरूकता फैलाया जाए। वहीं प्रवासियों के लिए कोरेंटाइन सेंटर का निर्माण भी कराएं।