चंपारण: कोविड 19 के वैक्सीन की बर्बादी और उसके अपव्यय पर डीएम गंभीर, जांच टीम गठित

मोतिहारी/राजन दत्त द्विवेदी: जिले में कोविड 19 के वैक्सीन की बर्बादी और उसके अपव्यय के मिली शिकायत मामले को डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने गंभीरता से लेते हुए जांच टीम गठित कर दोषियों पर कार्रवाई की पहल शुरू कर दी है।


जानकारी के अनुसार सिविल सर्जन सह जिला स्वास्थ्य समिति पूर्वी चंपारण के सदस्य सह सचिव ने जिलाधिकारी को प्रतिवेदन देते हुए शिकायत किया है कि निर्देशों के बावजूद डॉ. मोहम्मद सिराज आलम एवं रहमानिया मेडिकल सेंटर बरियारपुर मोतिहारी कोविड-19 टीकाकरण की न्यूनतम अपव्यय मामले में लापरवाह हैं। जिसके कारण कोरोना वैक्सीन की बर्बादी सामने आई है। पूर्व में इन्हें कई बार निर्देशित करने के बावजूद कोई सुधार परिलक्षित नहीं हुआ है।


सिविल सर्जन के इस शिकायती प्रदिवेदन के आलोक जिलाधिकारी में कोविड-19 वैक्सिंग की बर्बादी की जांच करने के लिए एक टीम का गठन किया है। जिसमें जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी रविंद्र नाथ चौधरी, वरीय उप समाहर्ता पूजा कुमारी एवं जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी को शामिल किया गया है। डीएम ने टीम के सदस्यों को निर्देश दिया है कि 48 घंटे के अन्दर अपना जांच प्रतिवेदन समर्पित करें।