चंपारण: जमीनी विवाद में संलिप्त थानेदारों पर है कड़ी नजर- डीएम

मोतिहारी/राजन दत्त द्विवेदी: डीएम शीर्षत कपिल अशोक की अध्यक्षता में कोविड-19 और जिले में प्रशासनिक व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के लिए विभिन्न पदाधिकारियों के साथ बैठक हुई। जिलाधिकारी ने कोवीड-19 के दिशा निर्देशों को सख्ती से पालन कराने, स्वास्थ्य व्यवस्था, जमीनी विवाद एवं अन्य मामलों में प्रशासन को सजगता से अपनी जिम्मेदारियों का पालन करने का निर्देश दिया । उन्होंने प्रशासनिक और पुलिस पदाधिकारियों को अपनी जिम्मेदारियों को गंभीरता से लेने और किसी भी प्रकार की ढिलाई ना बरतने की सख्त हिदायत दी। वहीं सभी थानाध्यक्षों को उनके क्षेत्र में परिवहन सेवाओं में कोरोना नियम पालन हो, किसी भी प्रकार प्रदर्शन और रैली ना हो यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।



स्वास्थ्य पदाधिकारियों को कोरोना टीकाकरण की गति बढ़ाने और वैक्सीन की बर्बादी ना हो इसका ध्यान रखने का जिलाधिकारी ने आदेश दिया गया। जिले में चमकी बुखार को लेकर पहले से सतर्क रहने और बच्चों के स्वास्थ्य से जुड़ा कोई मामला आने पर त्वरित उपचार हो और इसकी सूचना जिला स्वास्थ्य विभाग को पहुंचाने का निर्देश दिया। कहा जिले में कानून व्यवस्था मजबूत हो इसके लिए पुलिस पदाधिकारियों को सजग रहने पर जोर देते हुए अपने उच्च अधिकारियों को है सप्ताहिक रिपोर्ट सौंपने को कहा।


उन्होंने इंगित किया कि कुछ थानाध्यक्ष अपने थानाक्षेत्र अंतर्गत जमीनी विवाद के मामलों में संलिप्त रहते है और अपनी जिम्मेदारियों का निष्पक्षता से पालन नहीं करते। वैसे थानाध्यक्ष पर जिला प्रशासन द्वारा कड़ी कार्रवाई की जायेगी। इस बैठक में पुलिस अधीक्षक नवीनचंद्र झा, सभी डीएसपी, एसडीओ, उप विकास अयुक्त, अपर समाहर्ता, एडीएम आपदा प्रबंधन, अंचलाधिकारी एवं अन्य पदाधिकारी शामिल रहे।