बंगाल में ममता दीदी जहां जाएं वहां करें ‘जय श्री राम’ के नारे से स्वागत- सुशील मोदी

पटना: पूर्व उपमुख्यमंत्री व सांसद सुशील कुमार मोदी ने पश्चिम बंगाल के आरामबाग जिले के तीन विधान सभा क्षेत्रों में भाजपा की ओर से आयोजित ‘परिवर्तन यात्रा’ के दौरान करीब 150 किमी क्षेत्र में रोड शो और जनसभाओं के सम्बोधन के दौरान बंगाल की जनता से अपील की कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जहां भी जाएं वहां जनता ‘जय श्री राम’ के नारे से उनका स्वागत करें। उन्होंने कहा कि ममता दीदी हमेशा केन्द्र से झगड़ती रहेगी और बंगाल का विकास ठप्प रहेगा। जिस तरह से बिहार में डब्बल इंजन की सरकार है, उसी तरह से बंगाल में भी तेज विकास के लिए भाजपा की सरकार बनाएं।



श्री मोदी ने वहां अपनी जनसभाओं और रोड शो के दौरान कहा कि जिस तरह से अंग्रेज ‘वंदे मातरम्’ से भड़कते थे, उसी प्रकार ममता दीदी ‘जय श्री राम’ के नारे से भड़क जाती है। वंदे मातरम् के नारे ने अंग्रेजों को भारत से भगा दिया उसी प्रकार जय श्री राम के नारे ममता जी को बंगाल की गद्दी छोड़ने के लिए बाध्य करेगा। ममता दीदी कहती है कि श्रीराम का बंगाल से कोई संबंध नहीं है, जबकि राम, कृष्ण, दुर्गा, काली, सरस्वती,लक्ष्मी, रामकृष्ण परमहंस एक ही ईश्वर के अलग-अलग रूप हैं।

उन्होंने कहा कि बंगाल में हिंसा और नफरत फैलाने वालों का साथ देने वाले कान खोल कर सुन लंे पश्चिम बंगाल में भाजपा की सरकार आने वाली है। बिहार और गुजरात की तरह बंगाल में भी महिलाओं को सरकारी नौकरी में 33 प्रतिशत आरक्षण और सातवां वेतनमान लागू किया जाएगा।

पीएम किसान सम्मान निधि के तहत देश के 10.8 करोड़ किसानों को 1लाख 20 हजार करोड़ रुपये दिया गया है जबकि बंगाल अकेला राज्य है जिसके 38 लाख किसान पीएम किसान निधि से वंचित है। इसी प्रकार 5 लाख रुपये तक की मु्फ्त इलाज की सुविधा वाली आयुष्मान योजना के लाभ से भी बंगाल के लोगों को ममता दीदी ने वंचित कर दिया है।