मुजफ्फरपुर कांड : CM नीतीश के खिलाफ गोलबंद हुआ विपक्ष, अविलंब इस्तीफे की उठाई मांग

0
325

पटना (नियाज आलम) बिहार के बहुचर्चित मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन उत्पीड़न केस के मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ सीबीआई जांच के आदेश के बाद सीएम नीतीश कुमार की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं। विपक्ष ने इस मामले में अब सीधे तौर पर मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग शुरु कर दी है।

इसी क्रम में पूर्व केन्द्रीय मंत्री व रालोसपा प्रमुख उपेन्द्र कुशवाहा ने भी मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने कहा है कि पद पर रहते मुख्यमंत्री के खिलाफ सही जांच हो ही नहीं सकती। इसीलिए नीतीश कुमार को मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड में अपनी आत्मा की आवाज सुनते हुए इस्तीफा देकर ही सीबीआई कोर्ट में हाजिर होना चाहिए।

उनके साथ ही लोकतांत्रिक जनता दल ने भी सीएम के इस्तीफे की मांग की है। पार्टी नेता संतोष कुशवाहा ने कहा है कि विशेष पॉक्सो कोर्ट ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ सीबीआई जांच के आदेश दिये हैं।

कोर्ट ने कहा है कि आप (बिहार सरकार) क्या कर रहे हैं। यह शर्मनाक है। बच्चों के साथ अप्राकृतिक यौन शोषण किया जाता है। आप कहते हैं ऐसा नहीं है। आप यह कैसे कर सकते हैं। यह अमानवीय है।

https://beforeprint.in/news/economy-news/tech-news/founder-of-vidyapeeth-coaching-giving-you-clue-of-success-all-iits-aspirant-must-know-before-joining-any-coaching

लोकतांत्रिक जनता दल देश के राष्ट्रपति एवं बिहार के राज्यपाल से यह मांग करता है की मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस पर कोर्ट के आदेश के आधार पर मुख्यमंत्री पद की गरिमा को बनाये रखने के लिए बिहार सरकार को बर्खास्त किया जाए। पार्टी मुख्यमंत्री से भी मांग करती है की वो नैतिकता के आधार पर अविलम्ब इस्तीफा दे।

हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (से.) के राष्ट्रीय प्रवक्ता धीरेन्द्र कुमार मुन्ना ने कहा है कि नैतिकता, ईमानदारी और पारदर्शिता के नाम पर सत्ता की मलाई खाने वाले नीतीश कुमार का पर्दाफाश आज अदालती आदेश से हो गया। उन्होंने कहा है कि जाँच निष्पक्ष हो तब तक नीतीश कुमार को पद छोड देना चाहिए।