CORONA IN UP : लखनऊ व कानपुर समेत चार जिलों के सरकारी और निजी आफिसों में 50% उपस्थिति रहेगी

स्टेट डेस्क /लखनऊ : उत्तरप्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों पर रोक लगाने के लिए राज्य सरकार ने बड़ा फैसला किया है। राज्य के 4 जिलों लखनऊ, बनारस, प्रयागराज, कानपुर नगर में कोविड संक्रमण की श्रृंखला तोड़ने के लिये आदेश जारी कर कहा गया है कि सरकारी व निजी दफ्तरों में 50% क्षमता से कार्य लिया जाये। इस आशय का आदेश अपर मुख्य सचिव के आदेश से जारी किया गया है।


इस बीच राजधानी लखनऊ समेत उत्तर प्रदेश में कोरोना ने और भी घातक रूप ले लिया है। कल शाम तक लखनऊ में सारे रिकोर्ड तोड़ते हुए 2934 नये कोरोना मरीज़ मिले। राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 9695 हो गई है । राज्य मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला भी कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं ।उन्होंने अपने को इसोलेट कर लिया है।

इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को अपने वाराणसी दौरे के दौरान कोविड-19 से बचाव व चिकित्सा व्यवस्थाओं की विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने निर्देश
दिया कि कोविड संक्रमण की वृद्धि के दृष्टिगत मेडिकल सुविधाओं को तेजी से सुदृढ़ किया जाए। टेलीमेडीसिन व टेली कंसल्टेन्सी की सुविधा सुनिश्चित की जाए तथा
चिकित्सक व पैरामेडिकल स्टाफ निरन्तर उपलब्ध रहें। प्राइवेट हॉस्पिटलों में उपचार हेतु निर्धारित रेट की व्यवस्था सुनिश्चित हो एवं निर्धारित दर पर ही टेस्टिंग की जाए।

कोविड संक्रमण से स्वास्थ्य कर्मी, कोरोना वाॅरियर्स, पुलिस, प्रशासन आदि भी सतर्क रहते हुए बचाव की व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें एल-3 व एल-2 के 1000 से अधिक बेड उपलब्ध हैं, इन्हें और बढ़ाया जाए रेलवे व बस स्टेशनों पर एंटीजन टेस्ट की सुविधा बहाल की जाए। ग्राम पंचायतों व नगर निकायों में निगरानी समितियां सक्रिय रहें तथा
कुल टेस्टिंग का कम से कम 60-70 प्रतिशत आर0टी0पी0सी0आर0 के माध्यम से हो। पब्लिक एड्रेस सिस्टम एवं पी0आर0वी0 112 के माध्यम से शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड-19 से बचाव के सम्बन्ध में जागरूकता बढ़ायी जाए। आगामी 11 से 14 अप्रैल तक ‘टीका उत्सव’ होगा।