देश में पहली बार एक दिन में डेढ़ लाख से ज्यादा संक्रमित मिले, केजरीवाल बोले- अस्पताल के बेड भरे तो लगेगा लॉकडाउन

सेंट्रल डेस्क : कोरोना वैक्सीन की कमी और कई राज्यों में नई पाबंदियों के बीच संक्रमण की तेज रफ्तार चिंता बढ़ा रही है। देश में शनिवार को कोरोना के 1.52 लाख नए केस मिले। लगातार 5वें दिन यह संख्या एक लाख से ज्यादा रही है। हर दिन के साथ संक्रमितों की संख्या का नया रिकॉर्ड बना है। शुक्रवार को करीब 1.45 लाख और गुरुवार को 1.31 लाख मरीज मिले थे। अब देश में एक्टिव केस की संख्या 11 लाख के पार हो गई है। यह संख्या कोरोना के पिछले फेज के पीक से कहीं ज्यादा है। पिछले साल 17 सितंबर को संक्रमण का पीक दिन था। इस दिन सबसे ज्यादा 10.17 लाख एक्टिव केस थे।


महाराष्ट्र में लगातार 5 दिन से नए केस की संख्या 50 हजार से ज्यादा है। पिछले 24 घंटों में यहां 55,411 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 309 लोगों की मौत हो गई। राज्य में 5.36 लाख से ज्यादा एक्टिव केस हैं। यानी देश के कुल एक्टिव केस में से आधे महाराष्ट्र में हैं। यहां के पुणे में 9,864 और मुंबई में 9,327 मामले सामने आए हैं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दिल्ली में बीते 24 घंटे में कितने मामले आए और शनिवार को राजधानी में जो पाबंदियां बढ़ाई गई हैं उन्हें लेकर जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने बताया कि दिल्ली में कोरोना बहुत तेजी से बढ़ रहा है और बीते 24 घंटे में 10732 केस आए हैं जो अब तक सबसे ज्यादा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोरोना की चौथी लहर बेहद खतरनाक है और बहुत तेजी से लोग इसकी चपेट में आ रहे हैं।

केजरीवाल ने बताया है कि कोरोना की चौथी लहर बेहद खतरनाक है और इससे निपटने के लिए हम सबका सहयोग ले रहे हैं। इससे पार पाने के लिए दिल्ली सरकार तीन स्तरों पर काम कर रही है। 

उन्होंने ये भी अनुरोध किया कि अगर बहुत जरूरी लगे तब ही अस्पताल जाएं अन्यथा होम आइसोलेशन में रहें। अगर सामान्य लक्षण वाले भी अस्पतालों में बेड भरने लगेंगे तो गंभीर मरीजों परेशानी का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने ये भी बताया कि अगर अस्पतालों में बेड भर गए तो दिल्ली में लॉकडाउन लगाना ही पड़ेगा। ऐसे में जनता सहयोग करे और जरूरत हो तभी अस्पताल में जाए।