Dharm: विनायक चतुर्थी बारें में जानें

हर मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को विनायक चतुर्थी मनाई जाती है। फाल्गुन माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि बुधवार यानी 17 मार्च को पड़ रही है। जैसा कि नाम से ही पता चलता है यह दिन गणेश जी को समर्पित है। इस दिन गणेश जी की पूरे विधि-विधान के साथ पूजा की जाती है। कल बुधवार है। यह दिन भी गणेश जी को समर्पित होता है। इस दिन गणेश जी को उनकी प्रिय चीजों का भोग लगाया जाता है। इन्हें विघ्नहर्ता भी कहा गया है क्योंकि ये अपने भक्तों के विघ्नों को हर लेते हैं।


विनायक चतुर्थी का शुभ मुहूर्त:

चतुर्थी तिथि प्रारंभ: 16 मार्च, मंगलवार, रात 8 बजकर 58 मिनट से
चतुर्थी तिथि समाप्त: 17 मार्च, बुधवार, रात 11 बजकर 28 मिनट तक

विनायक चतुर्थी का महत्व:
मान्यताओं के अनुसार, जो व्यक्ति पूरी श्रद्धा के साथ विनायक चतुर्थी का व्रत करता है उसे गणेश जी की विशेष कृपा प्राप्त होती है। इस द‍िन गणपत‍ि की पूजा-अर्चना करने से व्यक्ति के सभी ब‍िगड़े कार्य बन जाते हैं। साथ ही अगर जीवन में किसी तरह की कोई बाधा चली आ रही है तो वो भी समाप्त हो जाती है। गणपति बप्पा अपने भक्तों के विघ्नों को हर लेते हैं इसलिए इन्हें विघ्नहर्ता के नाम से भी जाना जाता है।