शर्मनाक: पहले गर्भ गिराने के लिए बनाया था प्रेशर, अब बेटी जन्म लेने पर भी करता है पिटाई

0
173

पटना/अमित जायसवाल : देश भर में ‘बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ’ अभियान चलाया जा रहा है. हर स्तर पर बेटियों को आगे बढ़ाने की बात कही जा रही है. लेकिन पटना में एक ऐसा मामला सामने आया है, जो बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ अभियान पर करार प्रहार करती है. ये मामला बेहद शर्मनाक है. इस मामले को जानकर आपके भी होश उड़ जाएंगे. देश के अंदर लिंग जांच कराना एक कानूनन जुर्म है.

बावजूद इसके एक पति अपनी गर्भवती पत्नी का जबरन मेडिकल टेस्ट कराता है. पत्नी के गर्भ में लड़का है या लड़की, उसके लिंग की जांच कराता है. जब उसे पता चलता है कि गर्भ में लड़की है तो वो अपनी पत्नी पर जबरन प्रेशर बनाता है. उसे गर्भ गिराने को कहता है. बात नहीं मानने पर वो पत्नी की जमकर पिटाई करता है. इस शर्मनाक हरकत में सास और ससुर भी बराबर की भागीदारी निभाते हैं.

ये पूरा मामला मसौढ़ी का है, जो अब पटना के महिला थाना पहुंच गया है. प्रताड़ित करने वाले पति का नाम सौरव कुमार सिंह है, जबकि उसकी पत्नी का नाम खुशबू कुमारी है. बात वहीं नहीं थमी.पिछले साल के नवंबर महीने में बेटी के जन्म के बाद भी सौरव अपनी पत्नी को पीटता रहा. 19 फरवरी को भी उसने खुशबू की बुरी तरह से पिटाई की थी.

— झूठ बोलकर की थी शादी
केदार शर्मा बीएसएफ में एएसआई हैं और जहानाबाद के पाठक टोली इलाके के रहने वाले हैं. इन्होंने अपनी बेटी खुशबू की शादी 2016 में मसौढ़ी के नॉर्थ लक्खीबाग के रहने वाले रविंद्र सिंह के बेटे सौरव कुमार सिंह से की थी. शादी में 12 लाख रुपए कैश, 5 लाख रुपए की एक कार और ज्वलेरी से लेकर दहेज के रूप कई सामान दिए गए थे. आरोप है कि सौरव और उसके परिवार ने शादी से पहले झूठ बोला था. सौरव ने खुद को सरकारी इंजीनियर बताया था. 50 हजार रुपए प्रति महीने की अपनी आमदनी बताई थी.

लड़की के परिवार वालों का कहना है कि असलियत ये थी ही नहीं. सौरव ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई जरूर की, लेकिन वो सरकारी इंजीनियर नहीं था. बड़ी बात ये है कि सौरव के झूठ का पता चलने के बाद भी खुशबू और उसके परिवार ने समझौता किया. खुशबू अपने परिवार के साथ ही रहना चाहती थी. लेकिन ससुराल वाले अपनी आदतों से बाज नहीं आ रहे थे. आरोप है कि सौरव, उसके पिता रविंद्र सिंह और मां नीलम देवी बार—बार दहेज के लिए खुशबू को प्रताड़ित करते थे. शादी के बाद भी दो लाख रुपए खुशबू के परिवार वालों ने इलेक्ट्रिॉनिक शॉप खोलने के लिए दिए थे.

— अब महिला थाना कर रही जांच
सौरव और खुशबू की शादी को करीब तीन साल हो गए हैं. लेकिन ससुराल वालों ने उसे सही से रहने नहीं दिया. 19 फरवरी को सौरव ने अपने परिवार के साथ मिल कर बहुत बुरे तरीके से खुशबू को पीटा है. जिसके बाद वो पटना के महिला थाना पहुंच गई है. खुशबू ने थाना में अपने पति, सास और ससुर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया है.

पिटाई के दौरान खुशबू को गंभीर चोट आई है. इस कारण उसका मेडिकल टेस्ट भी कराया गया है. दहेज अधिनियम के तहत थाना में एफआईआर दर्ज किए जाने की थानेदार ने पुष्टि की है. थानेदार के अनुसार इस पूरे मामले की जांच की जा रही है. प्रोपर जांच के बाद पुलिस टीम कारगर कार्रवाई करेगी.