प्रयाग से चली गंगा अतुल्य मुंडमाल परिक्रमा यात्री पहुंची बेगूसराय, टीम में शामिल हैं 25 सदस्य

जन सहयोग के बिना गंगा की सफाई संभव नहीं : कर्नल आरपी पांडे



बछवाड़ा / बेगूसराय/ विनोद कर्ण: जनभागीदारी के बिना गंगा की सफाई संभव नहीं है। दुनिया की सबसे पवित्र नदी मानें जानी वाली गंगा का आज अस्तित्व खतरे में है। हमारा उद्देश्य है गंगा साफ हो निर्मल हो. इसके लिए जनसहयोग की आवश्कता है।

उक्त बातें अतुल्य गंगा मुंडमाल परिक्रमा की टीम का नेतृत्व कर रहे कर्नल आरपी पांडे ने रविवार को अतुल गंगा मुंडमाल परिक्रमा पदयात्रा के 19वें पङाव के दौरान झमटिया गंगा धाम पर कहीं। उन्होंने कहा कि एक तरफ सरकार द्वारा गंगा सफाई अभियान चलाया जा रहा है और दूसरी तरफ आमलोगो द्वारा गंगा में गंदगी फैलाने का काम किया जा रहा है। हमारी संस्था गंगा को स्वच्छ बनाने में लगी है जिससे आने वाली पीढ़ी उसी प्रकार गंगा के स्वच्छ जल को ग्रहण कर सके. हमारे पुर्वज कभी स्वच्छ जल ग्रहण किया करते थे। लेकिन आज गंगा माता का आंचल कुड़ेदान बनकर रह गया है।

उन्होंने कहा कि गंगा देश के आर्थिक विकास के लिए बहुत जरूरी है, गंगा महज हिन्दुओं के आस्था का केंद्र ही नहीं है, हमारी अस्मिता व सभ्यता की पहचान है। इस अभियान की शुरुआत दिल्ली में अतुल्य गंगा परिक्रमा टीम के गठन के साथ ही शुरू किया गया था। जिसके बाद संकल्प के साथ इस अभियान की शुरुआत की गई।

6 हजार किलोमीटर की पदयात्रा 10 महीने में होगी पूरी:

उन्होंने बताया कि गंगा स्वच्छता अभियान जागरूकता को लेकर अतुल्य गंगा मुंडमाल परिक्रमा की टीम 16 दिसंबर को यूपी के प्रयागराज से चलकर गंगासागर होते हुए दक्षिणी तट के रास्ते पुनः गोमुखी पहुंचकर समाप्त होगी। इस यात्रा के दौरान लगभग 6000 किलोमीटर की परिक्रमा पदयात्रा 10 महीनों में करने का लक्ष्य रखे हैं जो विश्व रिकॉर्ड होगा।

माफी जा रही है गंगा जल की गंदगी:

यात्रा के दौरान प्रति आठ से 10 किलोमीटर पर गंगा के प्रदूषण की जांच की जा रही हैं। साथ ही अन्य जगहों से गिरने वाली गंदगी को भी माप रहे हैं। जिसका रिपोर्ट जल्द ही केन्द्र सरकार को सौप दिया जाएगा। उन्होने बताया कि आज गंगा का जलस्तर दिन प्रतिदिन नीचे की ओर बढ़ता जा रहा है. सफाई अभियान के माध्यम से जल और जलस्तर बचाना बहुत ही जरूरी है। उन्होंने बताया कि जनसहयोग मिलता रहा तो विगत 10 वर्षों में गंगा की सफाई पूर्ण हो जाएगी।

टीम लगा रही है पौधे, दे रही पर्यावरण का संदेश:

उन्होंने बताया कि हमारी टीम के साथ साथ ग्रीन इंडिया फाउंडेशन के द्वारा पीपल, नीम, बरगद के पेड़ लगाए जा रहे हैं, वैसे बिहार में इन पेड़ों की संख्या अन्य राज्यों की तुलना में अधिक है. सौ पेड़ लगाने से इलाका जंगल नहीं बन जाएगा लेकिन इससे समाज में पेड़ लगाने की एक परंपरा स्थापित होगी और लोग स्वयं पेड़ लगाने के लिए बाध्य हो जाएंगे।

एमएलसी सर्वेश बनाएं गये अतुल्य गंगा के सदस्य:

वही दरभंगा स्नातक निर्वाचन क्षेत्र के विधान पार्षद सर्वेश कुमार को अतुल्य गंगा मुंडमाल परिक्रमा समिति का सदस्य बनाया गया है। विधान पार्षद ने कहा कि गंगा सफाई अभियान सामाजिक, आर्थिक व धार्मिक सभी दृष्टिकोण से एक नेक काम है. गंगा स्वच्छ हो, गंगा उज्ज्वल हो, सबका साथ हो गंगा साफ हो इस कार्य में समाज के हर व्यक्ति को आगे आने की जरूरत है, तभी हम इस अभियान को सफल बना सकते है। हमें इस अभियान में किसी एक दल की आवश्यकता नही बल्की सभी दल के सदस्य इस अभियान में शामिल होकर आने वाले नई पीढ़ी को स्वच्छ गंगा प्रदान कर सकते है।

मौके पर टीम के कर्नल मनोज केश्वर,गोपाल शर्मा,लेफ्टिनेंट कर्नल हमे लोहमी, हीरेन पटेल, रोहित उमराव, रोहित जाट, इंदु, शगुन त्यागी, समेत स्थानीय प्रेमशंकर राय, प्रभाकर राय, प्रिंस कुमार, प्रियरंजन राय, संजय कृष्ण चौधरी, सुमन चौधरी, राजू कुमार राजा सहित दर्जनों लोग मौजूद थे। इससे पहले बछवाड़ा थाना क्षेत्र के ही रूपसवाज गांव में भाजपा नेता प्रभाकर कुमार राय के नेतृत्व में टीम का स्वागत किया गया। बछवाड़ा से लेकर बरौनी भक्तियोग पुस्तकालय तक एमएलसी सर्वेश कुमार व प्रभाकर कुमार राय पदयात्रा में शामिल रहे. टीम यहां रात्रि विश्राम करेगी।