GOOD NEWS : जॉनसन एंड जॉनसन वैक्सीन को मिली मंजूरी, कोरोना वायरस से निपटने में एक ही डोज कारगर

सेंट्रल डेस्क/नई दिल्ली : विश्व भर में कोरोना से निपटने के लिए जारी जंग में Johnson & Johnson ने वैक्सीन विकसित कर बड़ी कामयाबी हासिल की है। विश्व स्वास्थ्य संगठन
ने इसे मंजूरी दे दी है. एजेंसियों की खबर के मुताबिक अमेरिका ने जॉनसन एंड जॉनसन कोरोना वैक्सीन को आपात स्थिति में प्रयोग की अनुमति दे दी है । इसके साथ ही जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन तीसरी वैक्सीन हो गई है जो कोरोना वायरस के खिलाफ 66% प्रभावी है। इससे पहले फाइजर और मॉडर्ना वैक्सीन को अमेरिका में इस्तेमाल को FDA (फुड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन) की तरफ से मंजूरी दी गई थी।


अमेरिका की फुड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन विभाग ने जॉनसन एंड जॉनसन वैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी दी है और FDA के वैज्ञानिकों के मुताबिक कोरोना के मध्यम और गंभीर बीमार वाले मरीजों पर जॉनसन एंड जॉनसन वैक्सीन 66 प्रतिशत तक प्रभावी है। बेहद गंभीर कोरोना संक्रमण की स्थिति में ये वैक्सीन 85 प्रतिशत तक असर दिखाती है।

FDA वैज्ञानिकों के मुताबिक जॉनसन एंड जॉनसन वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है और इसकी सबसे बड़ी खासियत ये है कि लोगों को इसकी एक ही खुराक देने की जरूरत होगी। जॉनसन एंड जॉनसन कंपनी ने अमेरिकी कांग्रेस को कहा है कि कंपनी मार्च के अंत तक अमेरिका में एक करोड़ वैक्सीन उत्पादन करेगी वहीं जून तक कंपनी 10 करोड़ खुराक अमेरिकी सरकार को दे देगी और साल के अंत तक कंपनी ने एक अरब वैक्सीन डोज के उत्पादन का लक्ष्य रखा है।

*44 हजार लोगों पर मेडिकल ट्रायल
अमेरिका, लैटिन अमेरिका के साथ दक्षिण अफ्रीका के 44000 हजार से ज्यादा वयस्क लोगों पर वैक्सीन का ट्रायल किया है। ट्रायल के बाद कंपनी ने दावा किया है कि वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है और इस्तेमाल के लिए पूरी तरह से तैयार है। इस वैक्सीन की बस एक ही खुराक का इस्तेमाल होना है लिहाजा ये दूसरी वैक्सीन्स की तुलना में कम खर्चीला भी है। वहीं, एफडीए की तरफ से अपने बयान में कहा गया कि ‘मेडिकल विश्लेषण के दौरान जॉनसन एंड जॉनसन वैक्सीन सुरक्षा के सभी मानकों पर खरा उतरा है और किसी भी खतरे की रिपोर्ट नहीं मिली है और ये वैक्सीन आपातकाली इस्तेमाल के लिए हर मानकों पर सही उतरा है’।

जॉनसन एंड जॉनसन वैक्सीन को जेनसेन फार्मास्यूटिकल कंपनीज ने विकसित किया है और मेडिकल ट्रायल के दौरान ये वैक्सीन हर चरण में सभी मानकों पर सुरक्षित पाया गया है। अमेरिकी चैनल CNN के मुताबिक जॉनसन एंड जॉनसन वैक्सीन FDA की मेडिकल टेस्ट में सभी जियोग्रोफिकल इलाकों में एक खुराक देने के बाद कोरोना संक्रमण होने के दर में 66% की कमी आ गई।