28.1 C
Delhi
Homeट्रेंडिंगअभिनेता सुशांत पर बनी फिल्म के रिलीज होने पर हाई कोर्ट ने...

अभिनेता सुशांत पर बनी फिल्म के रिलीज होने पर हाई कोर्ट ने मांगी जानकारी

- Advertisement -

-एकल पीठ के फैसले को सुशांत के पिता ने हाई कोर्ट में दी है चुनौती
-एकल पीठ ने फिल्म पर रोक लगाने की मांग वाली सुशांत के पिता की याचिका की थी खारिज

सेंट्रल डेस्क: दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के जीवन पर आधारित कथित फिल्म न्याय-द जस्टिस पर रोक लगाने से इन्कार करने के एकल पीठ के फैसले को सुशांत के पिता कृष्ण किशोर सिंह ने हाईकोर्ट में चुनौती दी है। बुधवार को सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति एजे भंभानी व न्यायमूर्ति जसमीत सिंह की पीठ ने कहा कि याचिका पर सुनवाई से पहले यह जान लेना जरूरी है कि फिल्म न्याय-द जस्टिस अभी रिलीज हुई है या नहीं।

पीठ ने कहा है कि यह फिल्म ओटीटी प्लेटफार्म पर 11 जून को रिलीज होनी थी। ऐसे में यह जान लेना जरूरी है कि फिल्म रिलीज हुई या नहीं। पीठ ने कहा कि, अगर फिल्म रिलीज हो गयी है तो फिर मामले को रोस्टर-बेंच के लिए रोक सकते है, लेकिन फिल्म रिलीज ना हुई हो तो पीठ दायर याचिका पर सुनवाई करने की अनुमति दे सकती है।

बता दे, पीठ ने रिलीज से सम्बंधित जानकारी तब मांगी है जब सुशांत के पिता की तरफ से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता जयंत मेहता ने पीठ से कहा कि फिल्म अभी रिलीज नहीं हुई है।

वहीं फिल्म निदेशक की तरफ से पेश हुए अधिवक्ता चंदर लाल ने फिल्म रिलीज़ को लेकर कोई जानकारी नहीं दी हैं। सुशांत के पिता का प्रतिनिधित्व कर रहे वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश साल्वे ने भी सुझाव दिया कि फिल्म रिलीज के पहलू को सत्यापित होने के बाद ही आगे की सुनवाई होनी चाहिए। पीठ ने रिलीज के संबंध में जानकारी देने का निर्देश देते हुए सुनवाई 25 जून तक के लिए स्थगित कर दी है।

10 जून को न्यायमूर्ति संजीव नरूला की एकल पीठ ने फिल्म पर रोक लगाने की मांग करने वाली याचिका को यह कहते हुए खारिज कर दिया था कि मरणोपरांत निजता के अधिकार की अनुमति नहीं है। उन्होंने कहा था कि इन फिल्मों को न तो सुशांत की बायोपिक के रूप में प्रदर्शित किया गया है और न ही उनके जीवन में जो कुछ हुआ उसका तथ्यात्मक वर्णन दर्शाया गया है। पीठ ने सुशांत के पिता की इस दलील को गलत बताया। दायर याचिका में कहा गया था की फिल्म की सामग्री मानहानिकारक है और इससे उनकी व उनके बेटे की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचेगा।

यह है पूरा मामला:


सुशांत के पिता ने द्वारा याचिका दायर में कहा गया था कि उनके बेटे के जीवन पर आधारित आगामी या प्रस्तावित फिल्मों न्याय- द जस्टिस, आत्महत्या या हत्या: ए स्टार वास लास्ट, शशांक की रिलीज़ पर रोक लगायी जाए। उनका आरोप है कि फिल्म निर्माता स्थिति का लाभ उठाने के लिए इस तरफ की फिल्म का निर्माण कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने फिल्म निर्माताओं से दो करोड़ रुपये के मुआवजा की भी मांग की थी।

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -