31.1 C
Delhi
Homeट्रेंडिंगटीका नहीं तो काम नहीं, दूसरे राज्यों से लौटाए जा रहे कामगार,...

टीका नहीं तो काम नहीं, दूसरे राज्यों से लौटाए जा रहे कामगार, कंपनियां मांग रहीं वैक्सीन सर्टिफिकेट

- Advertisement -

पटना: कोरोना की दूसरी लहर के दौरान बेरोजगार होकर अपने गांव लौटे कामगारों के समक्ष अब एक नई समस्या आ रही है। दूसरे राज्यों में अपने काम पर लौटने पर उनसे कोरोना टीके का प्रमाणपत्र मांगा जा रहा है।

जिन्होंने टीके के दोनों डोज नहीं लिये हैं, उन्हें नियोक्ता लौटा रहे हैं। उनसे कहा जा रहा है कि पहले टीके लगवाओ, फिर काम कराऊंगा। इस कारण दूसरे प्रदेशों से बड़ी संख्या में राज्य के कामगारों लौटना पड़ रहा है। इस तरह अब रोजगार और नौकरी के लिए भी कोरोना का टीका अनिवार्य हो गया है।

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान बेरोजगार होकर अपने गांव लौटे कामगारों के समक्ष अब एक नई समस्या आ रही है। दूसरे राज्यों में अपने काम पर लौटने पर उनसे कोरोना टीके का प्रमाणपत्र मांगा जा रहा है।

जिन्होंने टीके के दोनों डोज नहीं लिये हैं, उन्हें नियोक्ता लौटा रहे हैं। उनसे कहा जा रहा है कि पहले टीके लगवाओ, फिर काम कराऊंगा। इस कारण दूसरे प्रदेशों से बड़ी संख्या में राज्य के कामगारों लौटना पड़ रहा है। इस तरह अब रोजगार और नौकरी के लिए भी कोरोना का टीका अनिवार्य हो गया है।

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -