बिहार चुनाव में हमें पता नहीं चला कि कौन दोस्त है कौन दुश्मन- CM नीतीश

पटना: जदयू की राज्य कार्यकारिणी की बैठक के एक दिन पहले शनिवार को पार्टी के पदाधिकारियों की बैठक हुई. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में पार्टी के नेताओं ने विधानसभा चुनाव में कमजोर प्रदर्शन का ठीकरा भाजपा के सर फोड़ा. नीतीश ने कहा कि हमें भी दोस्त और दुश्मन का अंदाजा नहीं हो सका.

नीतीश कुमार ने अपनी पार्टी के नेताओं को कहा कि विधानसभा चुनाव के दौरान ही उन्हें अंदाजा हो गया था कि वे धोखा खा गये हैं. जब वे विधानसभा चुनाव के प्रचार से लौट कर पार्टी दफ्तर आते थे तो उन्हें पता चलता था कि क्षेत्र में क्या हो रहा है. नीतीश बोले-मुझे पता ही नहीं चल पाया कि कौन दुश्मन है और कौन दोस्त. मेरी सरकार ने इतना अच्छा काम किया था लेकिन दुष्प्रचार और धोखे ने जेडीयू को चुनाव हरवाया गया.

नीतीश कुमार ने कहा कि एनडीए में टिकट का बंटवारा पांच महीने पहले हो जाना चाहिये था. लेकिन सारी चीजें बहुत देर से तय की गयीं. हम क्या करते और हमारे कैंडिडेट क्या कर सकते थे. नीतीश बोले-हमारे समर्थकों ने आंख मूंद कर वोट दिया. हमने जहां कहा, वहीं वोट दिया. शायद वे ये कहना चाह रहे थे कि सहयोगी पार्टी के समर्थकों ने ऐसा नहीं किया. नीतीश इशारों में बोले लेकिन वहां बैठे जेडीयू के नेता उन बातों को समझ रहे थे.