Kanpur : कंडीशनिंग कैंप में महिला चयनकर्ताओं से किया किनारा

0
883

Bhupendra Singh : उत्तर प्रदेश क्रिकेट संघ की सीनियर महिला टीम का कंडीशनिंग कैंप भी इस भीषण सर्दी में शुरू करा दिया गया| इससे भी बड़ी बात यह रही कि कंडीशनिंग कैंप के दौरान महिला खिलाड़ियों को चुनने वाली महिला चयनकर्ताओं को इसकी भनक तक नहीं लगने दी गई| उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के इतिहास में यह पहली बार हुआ है कि जब भी महिला या पुरुष क्रिकेट टीम का प्रशिक्षण शिविर लगाया गया उसकी भनक चयनकर्ताओं को नहीं लगने दी गई| इसको क्रिकेट जगत में यूपीसीए की भ्रष्ट इकाई का यह कारनामा माना जा रहा है| बिना चयनकर्ताओं के चल रहे प्रशिक्षण शिविर में खिलाड़ियों के प्रतिभा का अवलोकन एक महाप्रबंधक स्तर के अधिकारी कर रहे हैं| यही नहीं चयनकर्ताओं के बदले कुछ सीईओ स्तर के अधिकारी भी महिला क्रिकेट को बारीकी से परखने का काम कर रहे हैं|

वहीं जूनियर क्रिकेट में भी चयन समिति के मुखिया की अनुपस्थिति में अभ्यास मैचों को कराए जाने में यूपीसीए के अधिकारियों ने सफलता प्राप्त की है| चयनकर्ताओं ने अपनी गैर हाजरी की चर्चा जब यूपीसीए में की तो अधिकारियों की ओर से उन्हें कोई संतुष्टि पूर्ण जवाब नहीं मिला| अधिकारी एक-दूसरे के सिर पर ठीकरा फोड़ने में व्यस्त दिखाई दिए| गौरतलब है कि यूपीसीए में अपनी पसंद के खिलाड़ियों को खिलाने के लिए अब शायद चयनकर्ताओं की आवश्यकता नहीं पड़ रही|

उसके बदले सुपर चयनकर्ता भ्रष्ट अधिकारियों के साथ मिलकर टीम का निर्माण अपने स्तर पर करते आ रहे हैं| कंडीशनिंग कैंप के दौरान चयनकर्ता खिलाड़ियों की प्रतिभा का अवलोकन प्रथम दर्जे पर इसलिए कर पाते हैं क्योंकि चयन प्रक्रिया के दौरान वह कम समय में प्रतिभा को पूरी तरह से नहीं परख पाते|महिला चयनकर्ताओं को इस बार जब कंडीशनिंग कैंप के दौरान यूपीसीए के अधिकारियों ने नहीं बुलाया तो उन्होंने आपस में बात की जिस पर उन्होंने अपनी नाराजगी भी व्यक्त करते हुए संघ के वरिष्ठ अधिकारी से शिकायत करने की बात कही लेकिन सीईओ स्तर के अधिकारियों ने उन्हें निपटाने का काम किया|

यूपीसीए के पदाधिकारी के अनुसार महिला क्रिकेट के लिए एक कमेटी का गठन किया गया था जिसके बाद से चयनकर्ताओं को नजरअंदाज किया जाने लगा जबकि कंडीशनिंग कैंप के दौरान चयनकर्ताओं का मैदान पर होना अति आवश्यक होता है| इस बारे में जब यूपीसीए के एक निदेशक से बात की गई तो उन्होंने इसे कार्यसमिति का एक जिम्मेदारी भरा कार्य बताकर अपना पल्ला झाड़ लिया|

यह भी पढ़े:-