महेश्वर हजारी को बनाया जा सकता है विधानसभा उपाध्यक्ष, नामांकन आज करेंगे

पटना : बिहार विधानसभा में उपाध्यक्ष का पद जदयू (JDU) के महेश्वर हजारी को मिलने जा रहा है। हालांकि दावेदारों में रत्नेश सदा का भी नाम प्रमुखता से चल रहा है। छह साल बाद बिहार में इस पद पर किसी का चुनाव होने जा रहा है। मंगलवार दोपहर 12 बजे के पहले नामांकन और निर्वाचन बुधवार को होगा। 

महेश्वर हजारी समस्तीपुर जिले के कल्याणपुर क्षेत्र से चौथी बार विधायक बने हैं। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की पुरानी सरकार में वे मंत्री भी थे। लोकसभा सदस्य भी रह चुके हैं। राजनीतिक लिहाज से अनुसूचित जाति के किसी सदस्य को यह पद दिया जाना है। अध्यक्ष पद भाजपा के पास है। ऐसे में यह पद जदयू के खाते में जाना तय है।

बिहार विधानसभा की एक परंपरा विपक्षी खेमे से उपाध्यक्ष बनाने की रही है। परंतु 2012 से 2015 के बीच सत्तारूढ़ भाजपा के अमरेंद्र प्रताप सिंह को यह जिम्मेदारी दी गई थी। तब जदयू से उदय नारायण चौधरी अध्यक्ष थे। इस बार भी साफ है कि उपाध्यक्ष का पद सत्तारूढ़ दल के पास ही रहेगा।

नीतीश सरकार में पहली बार विधानसभा अध्‍यक्ष का पद जदयू के अलावा किसी दल को मिला है। फिलहाल भाजपा के विजय कुमार सिन्‍हा इस पद पद आसीन हैं। इससे पहले नीतीश कुमार ने विधानसभा अध्‍यक्ष का पद हमेशा अपने दल के पास रखा। उनके दल से ही उदय नारायण चौधरी और बाद में विजय चौधरी काफी दिनों तक बिहार विधानसभा के अध्‍यक्ष रहे। यह सिलसिला तब भी जारी रहा जब नीतीश भाजपा का साथ छोड़कर राजद के साथ चले गए थे।