22.1 C
Delhi
Homeट्रेंडिंगपंजाब में चन्नी को चंद महीनों का CM बनाना दलितों का अपमान-...

पंजाब में चन्नी को चंद महीनों का CM बनाना दलितों का अपमान- सुशील मोदी

- Advertisement -


स्टेट डेस्क: पंजाब में चरणजीत सिंह चन्नी को मात्र छह महीने के लिए मुख्यमन्त्री बनवाना और उनका शपथ ग्रहण होते ही इस पद के दूसरे दावेदार नवजोत सिंह सिद्धू के चेहरे पर विधानसभा चुनाव लड़ने की घोषणा करना दलित नेता का अपमान है।

सिद्धू पर ज्यादा भरोसा कर पार्टी आलाकमान ने पहले ही दिन चन्नी की क्षमताओं पर परोक्ष रूप से अविश्वास प्रस्ताव भी पारित कर दिया। पंजाब के दलित कांग्रेस के ‘दलित प्रेम’ की असलियत खूब समझते हैं।

जिस पंजाब में रोज पाकिस्तान से आने वाले ड्रोन, आरडीएक्स और घातक हथियार पकड़े जा रहे हैं, उसमें पाकिस्तान के सेना प्रमुख बाजवा को गले लगाने वाले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सिद्धू पर राहुल गांधी का बढता भरोसा राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है। राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्दर सिंह ने जिस खतरे से आगाह किया है, उस पर कांग्रेस नेतृत्व को जवाब देना चाहिए। पंजाब में कांग्रेस देश की सुरक्षा की कीमत पर राजनीति कर रहे है।

तेजस्वी प्रसाद यादव पूछते हैं कि अच्छे दिन आये क्या, क्योंकि उन्हें कुछ भी अच्छा होता दिखता नहीं है। समस्या उनकी नजर में न होती तो वे 9 करोड़ किसानों के खाते में हर साल बिना बिचौलियों के पहुँचने वाली सालाना 6 हजार रुपये की सम्मान राशि, 8 करोड़ गरीब महिलाओं को मुफ्त मिलने वाला उज्जवला गैस कनेक्शन, कोरोना काल में 80 करोड़ गरीबों को कई महीने तक मिलने वाले मुफ्त राशन, स्वदेशी वैक्सीन बनाने में मिली सफलता, गेहूँ-धान-सरसों सहित कई फसलों के एमएसपी में भारी वृद्धि, गेहूँ की रिकार्ड खरीद और अर्थव्यवस्था की विकास दर में सुधार भी देख पाते। जनता को अच्छे दिन दिख रहे हैं और वह अपने वोट से एनडीए को ” थैंक्यू ” भी कह रही है।

- Advertisement -










- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -