जवानों की शहादत पर सियासत कर रही है मोदी सरकार: ममता

0
80

सेंट्रल डेस्क: कोलकाता, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को आरोप लगाया कि मोदी सरकार को पुलवामा हमले के बारे में खुफिया सूचनाएं थी, लेकिन कोई कदम नहीं उठाया गया क्योंकि वे जवानों की शहादत पर सियासत करना चाहते हैं। अपनी पार्टी टीएमसी की कोर कमेटी की बैठक को संबोधित करते हुए ममता ने कहा, ‘केंद्र सरकार को पता था कि इस तरह का हमला हो सकता है, इस बारे में पहले ही खुफिया सूचनाएं थी। इसके बावजूद जवानों को क्यों नहीं एयर लिफ्ट किया गया? क्यों नाका डाल तलाशी नहीं की गई? जवानों को मौत के मुंह में क्यों ढकेल दिया गया? ऐसा इसलिए किया गया ताकि वे चुनाव में जवानों की शहादत पर सियासत कर सकें।

उल्लेखनीय है कि बीते सोमवार को भी ममता ने पुलवामा आतंकी हमले के समय पर सवाल खड़ा किया था और कहा था कि क्या सरकार ऐसे में युद्ध करना चाहती है जबकि लोकसभा चुनाव की आहट सुनाई दे रही है। सभी 42 सीटों पर जीत का भरा दंभ कोर कमेटी की बैठक में ममता बनर्जी ने जीत का दंभ भरते हुए दावा किया कि तृणमूल कांग्रेस चुनाव में पश्चिम बंगाल में लोकसभा की सभी 42 सीटों पर चुनाव जीतेगी। बता दें कि तृणमूल कांग्र्रेस राज्य में मुख्य विपक्षी भाजपा को ही मान रही है। ममता बनर्जी के निशाने पर अब कांग्र्रेस अथवा माकपा के बजाय अधिकतर भाजपा ही रहती है। सांसद, मंत्री से लेकर जिला स्तर के नेताओं की मौजूदगी के बीच कोर कमेटी की बैठक में ममता ने एक बार फिर कहा, कांग्र्रेस अथवा माकपा क्या कर रही है यह देखने की जरुरत नहीं, हमें 42 में से 42 सीटें जीतनी है इस लिहाज से तैयारी ब्लाकस्तरीय होनी चाहिए।

विचित्र तरीके से काम कर रही है केंद्र सरकार

तृणमूल सुप्रीमो ने लोकसभा चुनाव के पहले युद्ध को लेकर उन्मादी माहौल बनाने का आरोप केंद्र सरकार पर लगाया और संघ, विहिप भी बरसी। उन्होंने कार्यकर्ताओं से लोकसभा चुनाव में भाजपा को केंद्र की सत्ता से उखाड़ फेकने का आह्वïान किया। सुश्री बनर्जी ने कहा कि केंद्र सरकार विचित्र तरीके से काम कर रही है। केंद्रीय मंत्रियों को भी महत्वपूर्ण फैसले के बारे में पता नहीं होता है।

दो भाई चला रहे हैं सरकार

ममता बनर्जी ने नाम लिए बगैर पीएम नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर निशाना साधा। गुजरात दंगे की पृष्ठभूमि में उन्होंने कहा कि ‘सरकार को दो भाई (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह) चला रहे हैं, जिनके हाथों पर बेगुनाहों का खून है।

ईवीएम छेड़छाड़ पर रखनी होगी नजर

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे पार्टी कार्यकर्ताओं को सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि लोकसभा चुनाव के दौरान ईवीएम से छेड़छाड़ की कोशिश होगी। आपको ऐसी कोशिशों को नाकाम करना होगा। ईवीएम छेड़छाड़ पर नजर रखने के लिए ममता बनर्जी ने कुछ चुनिंदा नेताओं को विशेष प्रशिक्षण लेने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि जो मतगणना की जिम्मेवारी संभालेंगे उनकी पहचान कर उन्हें प्रशिक्षित किया जाएगा। वीवीपैट किस तरह से काम करता है इसे जानना होगा। जितना संभव हो हमें नजर रखनी होगी।