संसद में महाराष्ट्र में 100 करोड़ की वसूली मुद्दे पर भारी हंगामा

-महाराष्ट्र के गृह मंत्री वसूली कर रहे, यह देश देख रहा : जावड़ेकर
-‘जिसके पक्ष में सीएम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की, उसी को सौ करोड़ वसूली का लक्ष्य दिया गया था’
-उद्धव सरकार को गिराने की कोशिश लंबे वक्त से चल रही : शिवसेना सांसद


नई दिल्ली : संसद में सोमवार को महाराष्ट्र में 100 करोड़ की वसूली का मुद्दा गूंजा। संसद के दोनों सदनों में महाराष्ट्र को लेकर जमकर हंगामा हुआ। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने राज्यसभा में इस मुद्दे को उठाया। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के गृह मंत्री वसूली कर रहे हैं और यह सारा देश देख रहा है। हंगामा बढ़ने के बाद राज्यसभा को दोपहर दो बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।


उधर, लोकसभा में भी इस मुद्दे पर जमकर बवाल हुआ। भारतीय जनता पार्टी के सांसद राकेश सिंह ने कहा कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को तुरंत अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए और केंद्रीय एजेंसियों को इस मामले की जांच करनी चाहिए।

राकेश सिंह ने संसद में कहा कि ये पहली बार है, जब किसी पुलिस अधिकारी के समर्थन में मुख्यमंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उसी पुलिस अधिकारी को सौ करोड़ रुपये वसूलने का टारगेट दिया गया था। लोकसभा में शिवसेना के विनायक राउत ने पलटवार करते हुए कहा कि महाराष्ट्र की सरकार को गिराने की कोशिश लंबे वक्त से चल रही है। परमबीर सिंह के खिलाफ आरोप लगे हैं, जिसकी जांच हो रही है। 

राष्ट्रपति शासन लगे : पूनम महाजन
भाजपा महाराष्ट्र मुद्दे को जमकर उछाल रही है। लोकसभा सांसद पूनम महाजन ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने की मांग की।