सांसद रामकृपाल यादव ने केंद्र सरकार से बिहार में नए उद्योग स्थापित करने की मांग की

नई दिल्ली/पटना : बिहार-झारखंड विभाजन के दौरान बिहार के सभी सरकारी उपक्रम झारखंड चले गए। नतीजतन आज बिहार की 11 करोड़ की आबादी बेरोजगारी एवं भुखमरी से परेशान है। बेरोजगारी एवं भुखमरी मिटाने के लिए राज्य सरकार प्रयासरत है। उक्त बातें आज मंगलवार को लोकसभा में पाटलिपुत्र से भाजपा सांसद रामकृपाल यादव ने कहीं।

उन्होंने सदन के माध्यम से केंद्र सरकार को बिहार की स्थिति से अवगत कराते हुए यहां नए उद्योग स्थापित करने की मांग प्रमुखता से की। सांसद रामकृपाल यादव ने कहा कि बिहार में नए उद्योग लगने से यहां रोजगार के अवसर बढ़ेंगे, जिससे पलायन कम होगा और गरीबी दूर होगी। वहीं, राज्य में आर्थिक समृद्धि आएगी।

आगे कहा कि मुझे पूर्ण विश्वास है कि केंद्र की भाजपा सरकार इस दिशा में पहल करेगी। बिहार में नए उद्योग स्थापित होने से बिहार सशक्त बनेगा एवं माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का आत्मनिर्भर भारत का सपना भी पूरा होगा।