JDU में टूट को नीतीश ने कहा- दावा बेदम, खरमास के बाद बदलेगी राजनीति

पटना: अरुणाचल प्रदेश में हुई एक सियासी घटना से बिहार की राजनीति में उबाल है। सत्ताधारी और विपक्षी दलों के नेताओं की तरफ से आ रहे बयानों से चर्चाओं को दौर जारी है। इसी कड़ी में मंगलवार को एक न्यूज चैनल से बात करते हुए आरजेडी नेता श्याम रजक ने दावा किया था कि जेडीयू के 17 विधायक हमारे संपर्क में हैं और कभी भी पार्टी में शामिल हो सकते हैं। श्याम रजक के बयान पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी चुप्पी तोड़ दी है और इन दावों को सिरे से खारिज कर दिया है।



बुधवार को राजधानी पटना में जलाशय का निरीक्षण करने पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से जब पत्रकारों ने इस बारे में सवाल पूछा तो उन्होंने इसका खंडन किया और सिरे से खारिज कर दिया। इससे पहले जेडीयू के नेताओं ने भी श्याम रजक के बयान को नकार दिया था और उनके बयान को भ्रामक व गुमराह करने वाला बताया था।

जदयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने दावा किया है कि खरमास के बाद बिहार की राजनीति बदल जाएगी। संजय सिंह ने साफ कहा कि श्याम रजक मुगालते में हैं। खुद राजद के तीन दर्जन विधायक जदयू के संपर्क में हैं और कभी भी राजद को छोड़कर जदयू में शामिल हो सकते हैं। असल में पार्टी के नेता श्याम रजक ने कह दिया है कि सत्ता पक्ष के 17 विधायक उनके संपर्क में हैं और वे सभी चाहते हैं कि उन्हें राजद अपना ले।