कानपुर में महिलाओं के लिए खुली पिंक पुलिस चौकी

कानपुर: महिलाओं के साथ हो रही छेड़छाड़ व अपराध को रोकने के उद्देश्य से मंगलवार को एसएसपी द्वारा शहर में पहली हाईटेक पिंक चौकी का उद्घाटन किया गया. शोहदों पर कड़ी लगाम लगाने के लिए इस चौकी में सिर्फ महिलाओं की शिकायतें ही सुनी जाएँगी. इसके साथ ही महिला उत्पीड़न के मामले की शिकायत पर टीम 10 मिनट के अन्दर मौके पर पहुँच जाएगी.


आपको बता दें कि आईपीएस और कानपुर दक्षिण की एसपी रवीना त्यागी ने एक नई पहल की है. इस नई पहल में उन्होंने अपने ही पुराने कार्यालय में पिंक चौकी बनाने का निर्णय लिया है. “दैनिक जागरण” से खास बातचीत में उन्होंने बताया कि इस पिंक चौकी में महिलाओं से जुड़ी सभी प्रकार की समस्याओं को सुलझाने का प्रयास किया जायेगा जिसके लिए महिला दरोगा के साथ पूरा महिला स्टाफ की तैनाती की गयी है.

उन्होंने बताया जो महिलाएं किसी कारण वश थाने नही पहुँच सकती , वे शहर के किदवई नगर क्षेत्र में स्थित पिंक चौकी जाकर न्याय की गुहार लगा सकती हैं. उन्होंने यह भी बताया कि इस चौकी से एंटीरोमियो स्क्वाड को भी जोड़ा गया है और साथ ही चौकी को और 1090 हेल्पलाइन गाड़ियों को पिंक कलर से रंगा गया है. वही इस चौकी में पूरा स्टाफ महिलाओं का ही होगा और छेड़छाड़ की घटनाओं को देखते हुए शहर के दक्षिण क्षेत्र के 25 संवेदन शील इलाको को भी चिन्हित किया गया है. इस मुहिम को समाज-सेवी संगठनों , मीडिया और सोशल-मीडिया से भी जोड़ा गया है वहीँ पीड़ितों के लिए 1090 के साथ-साथ चौकी का अलग से CUG नंबर 7839863003 भी दिया गया है .

ये नंबर सभी सोशल-मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर भी उपलब्ध है जिससे लोग आसानी से अपनी समस्याओं को बता सकते है. चौकी के उद्घाटन में पहुंची समाजसेवी प्रियंका त्रिपाठी ने बताया कि कानपुर शहर में ये जो पहल की गयी महिलाओं कि सुरक्षा के लिए यह एक बहत ही अच कदम है. उन्होंने कहा कि बहुत सी महिलाएं ऐसी होती हैं जोकि पुलिस स्टेशन जाने में कतराती हैं जिससे उनकी समस्या का समाधान नहीं हो पाता है. ऐसे में पिंक चौकी बनाए जाने के कारण बहुत सी महिलाओं को अपराध के खिलाफ खड़े होने का हौसला मिलेगा जिससे महिलाओं के प्रति हो रही आपराधिक घटनाओं पर भी रोक लगेगी.