पंचायत चुनाव : मुजफ्फरपुर सहित पंद्रह जिलों में अपडेट नहीं हो पाई है पंचायतों की वोटर लिस्ट !

हेमंत कुमार/पटना : बिहार राज्य निर्वाचन आयोग की तमाम चेतावनियों के बावजूद पंचायतों का वोटर लिस्ट अपडेट नहीं हो पा रहा है। वोटर लिस्ट अपडेट किये बगैर पंचायत चुनाव 2021 की तारीखों का ऐलान नहीं हो पायेगा। इस काम में घोर लापरवाही बरतने वाले जिलों में मुजफ्फरपुर समेत सूबे बिहार के पंद्रह जिलों के नाम शामिल हैं। आयोग ने 12 मार्च को समीक्षा बैठक में पाया कि पंद्रह जिलों में पंचायत वोटर लिस्ट को अपडेट करने का काम शुरू ही नहीं हो पाया है। जबकि वोटर लिस्ट अपडेट करने के लिए आयोग ने 3 मार्च 2021 को सभी जिलाधिकारी-सह-निर्वाचन पदाधिकारी (पंचायत) को विस्तृत दिशा निर्देश जारी कर दिया था। अब आयोग ने फिर से दिशा निर्देश जारी किया है जिसमें एक सप्ताह के भीतर वोटर लिस्ट अपडेट करने और रिपोर्ट भेजने की हिदायत दी गयी है।


*15 लाख लाख से अधिक वोटरों के नाम जोडे़ जाने हैं

बिहार विधानसभा के कुल 15,70,335 नये वोटरों ( ग्रामीण क्षेत्र के वोटर) के नाम पंचायतों के वोटर लिस्ट में जोड़े जाने हैं जिसमें से 12 मार्च तक केवल 2,94,712 नाम ही जुड़ पाये थे। शेष 12,75,623 नामों को 19 मार्च तक जोड़ना है।

*पंचायत वोटर लिस्ट अपडेट करना क्यों है जरूरी

मालूम हो कि पंचायतीराज अधिनियम की 2006 की धारा 126 में प्रावधान है कि पंचायतों का वोटर लिस्ट विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र की निर्वाचक सूची ( वोटर लिस्ट) को आधार मान कर तैयार की जायेगी। यानी विधानसभा के नये वोटर लिस्ट में शामिल ( ग्रामीण क्षेत्र के वोटर) वोटर अनिवार्य रूप से पंचायत चुनाव में वोटर होंगे।

बिहार में पंचायतों का वोटर लिस्ट 1.1.2020 को अपडेटेड विधानसभा निर्वाचक सूची ( वोटर लिस्ट) को आधार मान कर तैयार किया गया है जिसका प्रकाशन 19 फरवरी, 2021 को किया गया था। इसी बीच 1.1.2021 की अहर्ता के आधार पर विधानसभा निर्वाचक सूची ( वोटर लिस्ट) अपडेट की गयी जिसका प्रकाशन 15 फरवरी, 2021 को किया गया। इस अपडेटेड वोटर लिस्ट 16 लाख से अधिक नये वोटर बढ गये! ये वैसे वोटर हैं जिनके नाम 1.1.2020 की अहर्ता के आधार तैयार बिहार विधानसभा की निर्वाचक सूची ( वोटर लिस्ट) में नहीं थे। जाहिर है इनके नाम पंचायत वोटर लिस्ट में भी नहीं हैं क्योंकि पंचायत का वोटर लिस्ट भी 1.1.2020 की अहर्ता के आधार पर तैयार विधानसभा वोटर लिस्ट से ही बनी है। ऐसे में विधानसभा की नयी वोटर ( 15 फरवरी, 2021 को प्रकाशित) लिस्ट में शामिल वोटरों के नाम पंचायत वोटर लिस्ट में जोड़ना आयोग की कानूनी बाध्यता है।

*ये हैं वोटर लिस्ट में नाम जोड़ने में कोताही बरतने वाले जिले

1.मुजफ्फरपुर 2.बांका 3.गया 4.गोपालगंज 5.जमुई 6.कैमूर 7. लखीसराय 8.मुंगेर 9.पश्चिम चंपारण 10. 11.रोहतास 12.सहरसा 13.समस्तीपुर 14.शेखपुरा, 15.शिवहर