सरोजा सीताराम सदर अस्पताल को सिर्फ रेफर अस्पताल के नाम से जानते हैं लोग: मुकुंद प्रकाश मिश्र

शिवहर / नवीन पांडेय : बचपन से सुनते आ रहें हैं कि बेहतर इलाज के लिए शिवहर के मरीज को मुजफ्फरपुर रेफर कर दिया गया हैं। आखिर क्यों उक्त बातें सामाजिक कार्यकर्ता सह आरटीआई कार्यकर्ता मुकुंद प्रकाश मिश्र ने कही है।उन्होंने बताया है कि दरअसल बेहतर इलाज के लिए नही बल्कि शिवहर के अस्पताल में बेहतर व्यवस्था न होने के कारण मरीज को मुजफ्फरपुर, पटना रेफर किया जाता है ।आखिर क्या कारण है कि आजादी के सात दशक बीत जाने एवं जिला बने 26 वर्ष से अधिक हो जाने के बाद भी मरीज को मुज्जफरपुर रेफर करना पड़ता है ।


यह एक चिंता का विषय है।स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी को जिलाधिकारी को बताना चाहिए किस संसाधन का कमी है जो मरीज को अन्य जिले में रेफर करना होता है । उन्होंने जिले के कई संगठनों सहित युवाओं से अपील किया है कि आईए हम सब एक अभियान चलाएं कि करोना से संक्रमित मरीज सहित किसी भी गंभीर रोग से पीड़ित व सड़क दुर्घटना के शिकार मरीज का इलाज शिवहर के अस्पतालों में ही हो ।


श्री मिश्र ने कहा है कि यहां के ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक थोड़ा भी रिस्क नहीं लेना चाहते हैं। कोई भी मरीज आया उसको तुरंत यहां से रेफर मुजफ्फरपुर पटना के लिए कर देना है। प्रशासन के लचीलापन के कारण चिकित्सा प्रणाली दम तोड़ती नजर आ रही है।


हर छोटी से छोटी बीमारी में भी रेफर करने का वर्षों से परंपरा शिवहर जिला को रहा है। उन्होंने जिला पदाधिकारी सज्जन राज शेखर से आग्रह किया है कि कम से कम शिवहर जिला के नाम को मिट्टी में मत मिलने दिया जाए । अपने कार्य कौशल से शिवहर में ही इलाज कराने के लिए भरसक प्रयास किया जाना चाहिए। जिससे लोगों को दूसरे जिला में इलाज करवाने के लिए भटकना न परे।