32.1 C
Delhi
HomeNewsपीएम मोदी : 9/11 को याद रख कर सबक सीखने की जरूरत

पीएम मोदी : 9/11 को याद रख कर सबक सीखने की जरूरत

- Advertisement -

beforeprint.in|Manikant Mishra|September 11,2021 15:05 IST

सेन्ट्रल डेस्क। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को 20 साल पहले संयुक्त राज्य अमेरिका में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए आतंकी हमले को याद करते हुए कहा कि हमें ऐसे आतंकी हमलों से सिखाए गए सबक को याद रखना होगा और साथ ही साथ उन मानवीय मूल्यों को लागू करने का प्रयास करना होगा जिनका भारत प्रतिनिधित्व करता है।

मोदी ने अहमदाबाद में एक कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा -“आज 11 सितंबर या 9/11 है। वैश्विक इतिहास में एक तारीख जो मानवता पर हमले के लिए जानी जाती है।” यहाँ उन्होंने पाटीदार समुदाय के 200 करोड़ रुपये के परिसर सरदार धाम का उद्घाटन किया और एक बालिका छात्रावास की आधारशिला रखी।

प्रधानमंत्री ने अपने सम्बोधन में आगे स्वामी विवेकानंद का ज़िक्र कर कहा कि-“इसी दिन किसी ने दुनिया को बहुत कुछ सिखाया था। एक सदी से भी पहले, 11 सितंबर, 1893 को, शिकागो में विश्व धर्म संसद में, स्वामी विवेकानंद ने एक वैश्विक मंच पर बोलते हुए, दुनिया को भारत के मानवीय मूल्यों से परिचित कराया। आज दुनिया महसूस कर रही है कि उन्हीं मानवीय मूल्यों से 9/11 जैसे हमलों का स्थायी समाधान निकलेगा। एक तरफ हमें इस तरह के आतंकी हमलों से मिली सीख को याद रखना होगा और दूसरी तरफ हमें मानवीय मूल्यों को लागू करने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी।”

पीएम मोदी ने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में कला संकाय में तमिल कवि और स्वतंत्रता सेनानी सुब्रमण्यम भारती की याद में एक कुर्सी स्थापित करने की भी घोषणा कर कहा कि आज भारत के महान विद्वान, दार्शनिक और स्वतंत्रता सेनानी सुब्रमण्यम भारती की 100वीं पुण्यतिथि है। सदर साहब (सदर वल्लभ भाई पटेल) ने जिस ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ की परिकल्पना को आगे बढ़ाया, वही दर्शन महाकवि भारती के तमिल लेखन में भी झलकता है।

उन्होंने कहा कि तमिल एक समृद्ध भाषा है। यह दुनिया की सबसे पुरानी भाषाओं में से एक है। यह सभी हिन्दुस्तानियों के लिए गर्व की बात है। तमिल अध्ययन पर, बीएचयू में कला संकाय में सुब्रमण्य भारती की याद और सम्मान में एक कुर्सी स्थापित की जाएगी। यह कार्य छात्रों और शोधकर्ताओं को एक विकसित भारत के निर्माण के लिए प्रेरित करेगा जिसका सपना भारतीजी ने देखा था। वह भारत की एकता और मानवीय एकता पर जोर देते थे।

इस अवसर पर गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और उनके डिप्टी नितिन पटेल के साथ केंद्रीय मत्स्य पालन और पशुपालन मंत्री पुरुषोत्तम रूपाला और स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मंडाविया भी मौजूद थे।राज्य के कैबिनेट मंत्री, प्रदीप सिंह जडेजा, कौशिक पटेल, जयेश रादडिया और भूपेंद्र सिंह चुडास्मा, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल, कांग्रेस नेता और विपक्ष के नेता परेश धनानी भी मौजूद रहे।

- Advertisement -


- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -