Politics: जब कश्मीर में काली बर्फ गिरेगी तब बीजेपी में शामिल हो जाऊँगा

-BJP में शामिल होने को लेकर कांग्रेस नेता ग़ुलाम नबी आज़ाद ने कही ये बात



सेंट्रलडेस्क/ नयी दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को लेकर अटकलों का बाजार गर्म है। राज्यसभा से रिटायर हो रहे कांग्रेस के दिग्गज नेता को सदन से विदाई देते हुए खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भावुक हो गये थें।

प्रधानमंत्री मोदी ने गुलाम नबी आजाद को अपना अच्छा दोस्त बताते हुए सदन में जमकर तारीफ की थी। बीते दिनों राज्यसभा में हुए घटना क्रम को लेकर राजनीतिक गलियारों में चर्चा के बाजार खुब गर्म थें कि आजाद भाजपा का दामन थाम सकते हैं। इन अटकलों पर खुद गुलाम नबी आजाद ने बयान देकर रोक लगा दिया है।

दिग्गज कांग्रेस नेता ने एक अंग्रेजी अखबार को दिये गये अपने इन्टरव्यू में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनके संबंध से लेकर भाजपा ज्वाइन करने तक कई मुद्दों पर खुल कर बात की। भाजपा ज्वाइन करने को लेकर उन्होंने कहा कि मैं भाजपा में तब शामिल होऊंगा, जब हमारे पास कश्मीर में काली बर्फ होगी। भाजपा ही क्यों, उस दिन मैं किसी अन्य पार्टी में भी शामिल हो जाऊंगा। कांग्रेस नेता ने कहा इन अफवाहों को फैलाते हैं, वे मुझे नहीं जानते।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अपने संबंध को लेकर कांग्रेस नेता ने कहा कि हम एक दूसरे को 90 के दशक से जानते हैं। हम दोनों महासचिव थे, और हम विभिन्न विचारों का प्रतिनिधित्व करने वाली टीवी बहसों में आते थे। हम बहस में भी लड़ते थे, लेकिन अगर हम जल्दी पहुँचते, तो हम एक कप चाय के साथ आपस में लंबी बातें किया करते थें। बाद में हम एक-दूसरे को मुख्यमंत्रियों के रूप में जानते थे, प्रधानमंत्री की बैठकों में, गृह मंत्री की बैठकों में, तब वे सीएम थे और मैं स्वास्थ्य मंत्री था और हम हर 10-15 दिन में अलग-अलग मुद्दों पर बोलते थे।

हम दोनों इसलिए नहीं रो रहे थे क्योंकि हम एक दूसरे को जानते नहीं थे, बल्कि इसका कारण यह था कि 2006 में एक गुजराती पर्यटक बस पर कश्मीर में हमला किया गया था और मैं उनसे बात करते हुए भावुक हो गया था और रोने लगा था। प्रधानमंत्री कह रहे थे कि यहां एक शख्स रिटायर हो रहा है, जो एक अच्छा इंसान भी है। वह कहानी को पूरा नहीं कर सके क्योंकि वह भावुक हो गए और जब मैं कहानी को पूरा करना चाहता था, तो मैं भी नहीं कर सका क्योंकि मुझे लगा कि मैं 14 साल पहले उस पल में वापस आ गया था, जब हमला हुआ था।