30.1 C
Delhi
Homeट्रेंडिंगKanpur: गर्भवती महिलाएं डायबिटीज को नियंत्रित रखें ताकि माँ और शिशु दोनों...

Kanpur: गर्भवती महिलाएं डायबिटीज को नियंत्रित रखें ताकि माँ और शिशु दोनों रहें सुरक्षित

- Advertisement -

-आईएमए में गर्भावस्था में डायबिटीज प्रबंधन में चुनौतियों पर हुई सीएमई

कानपुर/ अंजनी निगम: गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था में डायबिटीज को अच्छे से नियंत्रित रखना चाहिए वर्ना महिला और गर्भस्थ शिशु के लिए परेशानी खड़ी हो सकती है। डायबिटीज का नियंत्रण गर्भवती और शिशु दोनों के लिए सुरक्षित रहता है।

यह बात आईएमए एवं सेफ मदरहुड कमेटी फॉग्सी कानपुर के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित सीएमई (सतत शिक्षा अभियान) में सेफ मदरहुड कमेटी की चेयरपर्सन डॉ प्रीति कुमार और आईएमए कानपुर की अध्यक्ष एवं वरिष्ठ स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ नीलम मिश्रा थी।

सीएम ई में भाग लेते चिकित्सक

आईएमए भवन परेड में आयोजित सीएमई में दोनों डॉक्टरों ने गर्भवती महिलाओं में डायबिटीज का दुष्प्रभाव व उससे बचाव के उपाय पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि इसमें सबसे ज्यादा नियमित आहार और व्यायाम का बहुत योगदान होता है। यदि इससे भी शुगर लेवल कंट्रोल नहीं होता है तो दवाएं और इंसुलिन थेरेपी का उपयोग करना होता है। गर्भावस्था में डायबिटीज के साथ सही समय पर प्रसव आवश्यक होता है व प्रसव के समय डायबिटीज पर विशेष नियंत्रण रखना पड़ता है जिसमें मां व ग्रभस्थ शिशु सुरक्षित रहें।

कार्यक्रम की चेयरपर्सन जीएसवीएम मेडिकल कालेज में स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग की अध्यक्ष डॉ किरन पांडे, डॉ उषा गोयनका, डॉ नंदिनी रस्तोगी, डॉ किरन सिन्हा रहीं। संचालन डॉ विनीता अवस्थी ने और धन्यवाद आईएमए कानपुर के सचिव डॉ दिनेश सचान ने दिया।

इस अवसर पर डॉ संगीता आर्य, डॉ कंचन शर्मा, डॉ राशि मिश्रा, डॉ शुंबुल शकील, डॉ एसके निगम, डॉ राघवेन्द्र सिंह, डॉ अंजलि गंगवार, डॉ मुना लाल विश्वकर्मा आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -