पुलवामा अटैक: NIA का बड़ा खुलासा, आतंकी ने ब्लास्ट के लिए इस गाड़ी का किया था इस्तमाल

0
103

सेंट्रल डेस्क: पुलवामा आतंकी हमले को लेकर राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने नया खुलासा किया है. NIA ने बताया कि 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले में इको वैन का इस्तेमाल हुआ था. जांच एजेंसी ने फॉरेंसिक और ऑटोमोबाइल विशेषज्ञों की मदद से पुलवामा आतंकी हमले में इस्‍तेमाल हुई कार की पहचान की है. NIA ने बताया कि हमले में मारुति इको का इस्तेमाल हुआ था, जिसके मालिक का नाम सज्‍जाद बट्ट है.

सज्जाद बट्ट अनंतनाग जिले के बिजबेहरा का रहने वाला है. वह हमले के वक्‍त से ही फरार है. NIA ने रिपोर्टों के हवाले से यह भी कहा कि सज्जाद बट्ट आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद में शामिल हो गया है. एनआईए ने बताया कि सज्‍जाद का एक फोटो भी सोशल मीडिया पर है, जिसमें वह हथियार लिए दिख रहा है. एनआईए ने वह फोटो भी जारी किया है.

एक सरकारी प्रवक्ता ने कहा कि एनआईए ने घटना स्थल से मिले कार के टुकड़ों को जोड़कर गाड़ी और उसके मालिक की पहचान कर जांच में महत्वपूर्ण सफलता हासिल की है. एनआईए अधिकारियों ने बताया कि यह गाड़ी अनंतनाग के हैवन कॉलोनी निवासी मोहम्मद जलील अहमद हकानी को 2011 में बेची गई थी. इसके बाद यह 7 बार बिकी और अंत में दक्षिण कश्मीर के बिजबेहारा निवासी सज्जाद बट्ट के पास पहुंची. प्रवक्ता के अनुसार गाड़ी 4 फरवरी को खरीदी गई थी. सज्जाद सिराज-उल-उलूम, शोपियां का छात्र था. एनआईए और पुलिस के एक दल ने शनिवार को सज्जाद के घर पर छापेमारी की, लेकिन वह मौजूद नहीं था.

बता दें कि बीते 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में CRPF के 40 से अधिक जवान शहीद हो गए थे. आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी ली थी. जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर यह हमला उस समय हुआ था जब सीआरपीएफ के 78 गाड़ियों के एक काफिले को जैश आतंकी ने विस्फोटकों से भरी एक गाड़ी को जवानों से भरे बस में भिड़ा दिया, जिससे बस के परखच्चे उड़ गए थे. सूत्रों ने बताया था कि आतंकी की गाड़ी में 60 किलो से अधिक आरडीएक्स रखा गया था.