पूर्णिया: फिरौती की रकम 10 लाख रुपये लेने के बाद भी लोजपा नेता को अपहरणकर्ताओं ने नहीं छोड़ा

पूर्णिया(राजेश कुमार झा): कोरोना काल में अपराधियों ने लोजपा नेता अनिल उरांव को बनाया अपना शिकार.दिनदहाड़े अपहरण कर मांगी 10 लाख रुपये.परिजनों ने अपहरणकर्ताओं को फिरौती की रकम 10 लाख रुपया भी दे दी.लेकिन उसके बाद भी अपहरणकर्ताओं ने लोजपा नेता अनिल उरांव को नहीं रिहा किया.बताते चलें कि शहर में दीन के 2 बजे कुछ अपहरणकर्ताओं ने लोजपा नेता अनिल उरांव का अपहरण कर लिया.


परिजनों ने पहले काफी खोजबीन की लेकिन कुछ भी पता नही चला.उसके बाद देर शाम परिजनों के मोबाइल पर अपहरणकर्ताओं ने फोन कर अपहरण की जानकारी देते हुए 10 लाख रुपये की डिमांड की.परिजनों ने अपहरण की राशि 10 लाख रुपये इंतजाम कर अपहरणकर्ताओं के बताए गए पते पर पहुंचा दिया.

लेकिन उसके बाद भी जब अपहरणकर्ताओं ने अनिल उरांव को रिहा नही किया तब परिजनों ने के0 हाट थाने में अपहरण का मामला दर्ज करवाया.इस कोरोना काल मे अपहरण का मामला प्रकाश में आने के बाद सनसनी फैल गई.पुलिस अधीक्षक दयाशंकर ने अविलंब एक स्पेशल टीम गठित कर अपहरणकर्ताओं के पीछे लग गई.इसके बाद पुलिस के हाथों कई अहम सुराग हाथ लगे.पुलिस ने दावा किया कि शाम तक इस अपहरण की गुत्थी को सुलझा लिया जाएगा.