39 C
Delhi
Homeट्रेंडिंगपुरुषोत्तम और अपराधियों के बीच दो से तीन मिनट तक हुई थी...

पुरुषोत्तम और अपराधियों के बीच दो से तीन मिनट तक हुई थी फाइटिंग, उसके बाद मारी गोली

- Advertisement -spot_img

पटना/अमित जायसवाल : फ्रेजर रोड में सूर्या अपार्टमेंट के पास पुरुषोत्तम कुमार और अपराधियों के बीच शनिवार की रात सबसे पहले फाइटिंग हुई थी. इन दोनों के बीच करीब दो से तीन मिनट तक फाइटिंग होती रही. फिर अपराधियों ने रिवॉल्वर निकाल कर पुरुषोत्तम के उपर पहली गोली चलाई. जो मिस फायर हो गई. इसके बाद दूसरी गोली चलाई जो पुरुषोत्तम के दिल के पास लगी और उसकी मौत हो गई. इस वारदात को एक—दो नहीं, बल्कि तीन अपराधियों ने मिलकर अंजाम दिया था. पटना पुलिस के अब तक की जांच और इस दरम्यान वारदात स्थल के पास लगे सीसीटीवी कैमरा के फुटेज को खंगालने के बाद ही ये बातें सामने आ पाई हैं. आपको बता दें कि हत्या के बाद वारदात स्थल से गांधी मैदान थाना की पुलिस टीम ने एक गोली और एक खोखा बरामद किया था.

— ज्वाइन करते खुद भिड़ गए हैं सिटी एसपी
सिटी एसपी सेंट्रल प्राणतोष कुमार दास वैसे तो सोमवार को पटना पुलिस को ज्वाइन करने वाले थे. लेकिन राजधानी में हुए हत्या के इस वारदात की जानकारी मिलते ही रविवार को ही वो ड्यूटी पर आ गए. आते ही खुद भिड़ गए. पूरे मामले की पड़ताल की. डीएसपी टाउन और मामले की जांच के लिए बनाई गई टीम के साथ एक मीटिंग की. प्राणतोष कुमार दास ने माना कि ये केस उनके लिए एक बड़ी चुनौती है. जिसे वो हर हाल में पूरा करेंगे. सिटी एसपी के अनुसार अब तक कैश लूट की वजह ही सामने आई है. हत्या के पीछे का कोई दूसरा बड़ा कारण अभी सामने नहीं आया है.

— क्विक मोबाइल के जवान ने सुनी थी गोली की आवाज
गांधी मैदान थाना में पोस्टेड क्विक मोबाइल जवान की तैनाती हर दिन शाम में कुछ घंटे के लिए सूर्या अपार्टमेंट के पास होती है. जो करीब रात के 8 बजे तक चलती है. दरअसल, सूर्या अपार्टमेंट में आकाश इंस्टीच्यूट है और छुट्टी के टाइम क्विक मोबाइल का जवान यहां मौजूद रहता है. शनिवार की रात भी क्विक मोबाइल का जवान वहां था. स्टूडेंट्स के चले जाने के बाद क्विक मोबाइल का जवान जैसे ही जेपी गोलंबर के पास पहुंचा, वैसे ही उसने गोली चलने की आवाज सुनी. उसने तुरंत गांधी मैदान थाना में अपने अधिकारियों को कॉल कर सूचना दी. फिर वो खुद मौके पर पहुंचा, तब तक अपराधी वारदात को अंजाम दे फरार हो चुके थे.

— पाल्स केक शॉप के केयर टेकर थे पुरुषोत्तम
वारदात के बाद राजधानी के अंदर ये बात तेजी से फैली कि अपराधियों ने जिस पुरुषोत्तम की हत्या की वो डाक बंगला चौराहा के पास स्थित मशहूर पाल्स केक शॉप के मालिक हैं. लेकिन ऐसा नहीं है. उस केक शॉप के मालिक विजय गांधी हैं. जिन्होंने 2—3 साल पहले बतौर केयर टेकर
पुरुषोत्तम को अपना केक शॉप पूर्ण रूप से चलाने के लिए दे दिया था. इसके एवज में विजय गांधी को हर महीने तय रकम मिल जाया करती थी.

हालांकि मौर्या कॉम्प्लेक्स का यमी बाइट शॉप पुरुषोत्तम ने खुद का खोला था. पुरुषोत्तम का परिवार पटना के ही दलदली रोड में रहता है. इनके छोटे भाई टींकू ने गांधी मैदान थाना में एफआईआर दर्ज कराया है. टिंकू मुजफ्फरपुर में देना बैंक में मैनेजर हैं. उन्हें वारदात के करीब 45 मिनट बाद कॉल कर हत्या की जानकारी दी गई थी.

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -