देश के चार राज्यों में बारिश का कहर : बिहार में 100 की मौत, तो यूपी में 24 और झारखंड में 8 की गई जान

स्टेट डेस्क/पटना : देश के चार राज्यों में मानसून ने दस्तक तो दी लेकिन साथ ही आफत भी बनकर टूटी। बिहार, उत्तर प्रदेश, झारखंड और प. बंगाल में गुरुवार को बिजली गिरने से 135 लोगों की जान चली गई। बिहार के 24 जिलों में सबसे ज्यादा 100 मौतें हुईं। उत्तर प्रदेश में 24, झारखंड में 8 और प. बंगाल में 3 लोगों की जान गई।

उत्तर प्रदेश के देवरिया में 9, प्रयागराज में 6, अंबेडकरनगर में 3, बाराबंकी में 3, कुशीनगर, फतेहपुर, उन्नाव, बलरामपुर में 1-1 लोगों की जान गई। झारखंड के पलामू और गढ़वा जिले में बिजली की चपेट में आने से महिला समेत 8 लोगों की मौत हो गई।

बिहार के गोपालगंज में बिजली गिरने से सबसे ज्यादा 14 लोगों की जान गई। मधुबनी और नवादा में 8-8 और सीवान, भागलपुर में 6-6 लोगों मौत हुई। दरभंगा, पूर्वी चंपारण और बांका में 5-5 लोगों की जान गई।

खगड़िया और औरंगाबाद में 3-3 और पश्चिमी चंपारण, किशनगंज, जहानाबाद, जमुई, पूर्णिया, सुपौल, कैमूर व बक्सर में 2-2 लोगों की मौत हुई है। समस्तीपुर, शिवहर, सारण, सीतामढ़ी और मधेपुरा में एक-एक व्यक्ति की जान गई।

राज्य सरकार ने क्या निर्देश दिए?

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक दिन में बिजली गिरने से इतनी ज्यादा मौतों पर दुख जाहिर किया। उन्होंने 4-4 लाख मुआवजा परिजनों को देने का ऐलान किया है। सीएम ने अपील की है कि सभी लोग खराब मौसम में पूरी सतर्कता बरतें। आपदा प्रबंधन विभाग की तरफ से जारी किए गए निर्देशों का पालन करें। बारिश के दौरान घरों में ही रहें या सुरक्षित स्थानों पर रहें।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चारों राज्यों में हुई मौतों पर दुख जाहिर किया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकारें राहत कार्य में जुटी हैं।

मौसम विभाग ने तेज बारिश और आकाशीय बिजली को लेकर उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों को पहले ही चेतावनी जारी की थी। विभाग ने बताया था कि अगले 72 घंटे तक लोग बहुत जरूरत न होने पर अपने घरों से बाहर न निकलें।