राज्यसभा सदस्य राकेश सिन्हा की अच्छी पहल, पुलवामा हमले में शहीद परिवार के बच्चे को पढ़ाएंगे

0
768

पटना : पुलवामा आत्मघाती हमले को लेकर लोगों में बेहद नाराजगी है. CRPF के 40 जवान शहीद हो गये. पूरा देश एकजुट होकर कह रहा है कि वह शहीद के परिवार वालों के साथ है. लेकिन राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के विचारक और बीजेपी के राज्यसभा सदस्य राकेश सिन्हा ने जो किया वह सबसे अनूठा अनुकरणीय और सराहनीय है.

दरअसल, राकेश सिन्हा ने कहा है कि वह शहीद के परिवार से किसी एक बच्चे को गोद लेकर उसकी पढ़ाई की जिम्मेदारी उठाएंगे. सिन्हा ने खुद ट्वीट किया है. लिखा है कि इस दुःख की घड़ी में हम सबको आतंक से पीड़ित परिवारों के साथ ठोस रूप में खड़ा होना चाहिए. सरकार तो कर ही रही है हमें भी हाथ बटाना चाहिए . मैं इन परिवारों में से एक बच्चे की १२ वी तक पढ़ाई की ज़िम्मेवारी लेता हूँ . पूरा देश इन माँ के लाल के परिवारों के साथ है.

इससे पहले सिन्हा ने मसले को अति संवेदनशील बताया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री घटना को लेकर उतने ही गुस्से में हैं जितने आमलोग और उन्होंने कहा कि मुजरिमों ने भारी भूल की है और इसके लिए उनको बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी।

उन्होंने कहा, ‘हमें प्रधानमंत्री ने जो कहा है उसके पीछे उनकी भावना को समझने की जरूरत है। इससे जनता की भावनाएं जाहिर होती हैं। सरकार लोगों की भावनाएं जानती है। रणनीति बनाना सरकार का काम है, लेकिन यह तय है कि देश के भीतर और बाहर आतंकवाद को समर्थन देने वालों को निर्दयता से पराजित करने के लिए वे पूरी कोशिश करेंगे।’

बता दें कि राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा मूल रूप से बिहार के बेगूसराय जिले के रहने वाले हैं। सिन्हा टीवी चैनल्स में डिबेट शो में आरएसएस का पक्ष रखते नजर आते हैं। सिन्हा फिलहाल दिल्ली विश्वविद्यालय में मोतीलाल नेहरू कॉलेज में प्रोफेसर और भारतीय सामाजिक विज्ञान शोध संस्थान के सदस्य हैं।