बक्सर में करोड़ो की लागत से बन रही सड़क, पुलिया और डिवाइडर निर्माण में घोटाला, नयी पुलिया एक महीना में ही टूटी

-अनियमितता की जांच का आदेश , पथनिर्माण विभाग की निर्माण एजेंसी ने शुरू की पुल की मरम्मत



बक्सर/ प्रतिनिधि: सूबे में सरकार जीरो टॉलरेंस के साथ – साथ गुणवत्ता से समझौता के लाख दावे करे परन्तु भ्रस्टाचार कम होने का नाम नही ले रहा है। पथनिर्माण विभाग के टेण्डर से बन रही सड़क निर्माण के दौरान ही बनी पुलिया में एक महीने के अंदर दरार पैदा की शिकायत जदयू के प्रदेश नेता अशोक कुमार सिंह यादव ने मुख्यमंत्री से कर जाँच की मांग करते ही करोड़ो की लागत से बनने वाली बक्सर स्टेशन से श्री रामरेखा घाट सड़क मार्ग पथनिर्माण विभाग में हड़कम्प मच गया हैं।

विभागीय अधिकारियों ने तत्काल पुलिया के टूटे हिस्से की मरम्मती के साथ ही मामले की जाँच प्रारभ कर दी हैं। बक्सर शहर में सड़क चौड़ीकरण का कार्य काफी तीव्र गति से चल रहा है। इस दौरान पथ निर्माण विभाग के द्वारा शहर में सड़क चौड़ीकरण करने के दौरान नालियों की मरम्मत से लेकर विभिन्न मोहल्लों के पानियों के निकलने के लिए पुलिया का निर्माण किया गया था। सड़क निर्माण का कार्य एक तरफ से तेजी से किया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ से संवेदक व मजदूरों की लापरवाही के कारण सड़क निर्माण में अनियमितता भी उजागर हो रही है।

ताजा मामला बसांव मठिया के पास नवनिर्मित पुलिया के क्षतिग्रस्त हो जाने का है। बता दें कि सड़क चौड़ीकरण के दौरान बसांव मठिया के समीप मोहल्लों नालियों के पानियों को निकलने के लिए पुलिया का निर्माण किया गया था तथा पुलिया के निर्माण के पश्चात सड़क पर आवागमन को शुरू कर दिया गया था इसी दौरान नवनिर्मित पुलिया वाहनों का दबाव नहीं सहने के कारण क्षतिग्रस्त हो गया। नवनिर्मित पुलिया के टूटने की जानकारी प्राप्त होने के पश्चात पथ निर्माण विभाग के इंजीनियर व अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचकर क्षतिग्रस्त पुलिया का जायजा लिया। जिसके बाद आनन-फानन में टूटे हुए पुलिया का मरम्मत का कार्य शुरू कर दिया गया।

इस संदर्भ में पूछे जाने पर पथ निर्माण विभाग के अभियंता भरत लाल ने बताया कि पुलिया के क्षतिग्रस्त होने की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंच कर उसकी जांच की गई। जांच के क्रम में पाया गया कि मजदूरों के द्वारा पुलिया निर्माण के दौरान मसाला डालने के पश्चात वाइब्रेटर मशीन सही से नहीं चलाई जाने के कारण पुलिया में दरार आ जाने की बात सामने आई है जिसके बाद उनके द्वारा संवेदक को यथाशीघ्र बेहतर ढंग से मरम्मत कराने का निर्देश दिया गया।

उन्होंने बताया कि जहां पर पुलिया के टूटने की बात सामने आई थी उस जगह पर नवनिर्मित पुलिया को तोड़कर अच्छी तरह से ढलाई वगैरा का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि पूरे पुलिया को ना तोड़ कर जिस जगह पर दरार पाई गई है उसी जगह को अच्छी तरह से तोड़कर मरम्मत का कार्य किया जा रहा है मरम्मत का कार्य संपन्न हो जाने के पश्चात पुलिया पूरी तरह से ठीक हो जाएगा। विभाग के अधिकारी अब सड़क निर्माण कार्य की निगरानी प्रारभ कर सड़क निर्माण और नाला निर्माण की गुणवत्ता की जाँच भी कर रहे हैं।

इधर मुख्यमंत्री जी से शिकायत करने वाले जदयू के प्रदेश नेता अशोक कुमार सिंह यादव ने कहा कि सड़क निमार्ण में विभाग गुणवत्ता पर कोई ध्यान नही दिया। मनमानी ढंग से संवेदक रातोरात से पुलिया और डिवाइडर बना रहे है जिसके कारण पुलिया टूट गया। पूरे मामले की जाँच कर दोषियों पर ठोस कार्यवाई की मांग किया है।