सीतामढ़ी: डीएम ने एसपी सहित वरीय अधिकारियों के साथ की समीक्षात्मक बैठक

सीतामढी़/रविशंकर सिंह: विधि व्यवस्था को लेकर डीएम अभिलाषा कुमारी शर्मा ने एसपी अनिल कुमार सहित जिले के वरीय अधिकारियों के साथ समाहरणालय मे बैठक कर आने वाले पर्व-त्योहार,मधनिषेध, वाहन जाँच, यातायात व्यवस्था विधि व्यवस्था की विस्तृत समीक्षा की। जिलाधिकारी ने कहा कि विधि -व्यवस्था जिला प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है।इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता और लापरवाही बर्दाश्त नही की जाएगी। कहा कि सुचना तंत्र को अधिक से अधिक सक्रिय कर पूरी टीम भावना के साथ कार्य करें। ताकि सकरात्मक परिणाम प्राप्त की जा सके।रात्रि गश्ती अधिक से अधिक करें।उन्होंने कहा कि चौकीदारी परेड अनवरत जारी रहना चाहिये।



साथ ही भूमिविवाद को लेकर सभी थानों में होने वाली शनिवार की बैठक भी जारी रखेंगे। छोटी छोटी घटनाओं पर भी त्वरित रूप से संज्ञान ले,ताकि किसी भी प्रकार की बड़ी घटना को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि आने वाले पर्व त्योहारों एवम पंचायत चुनाव के अवसर पर विधिव्यवस्था संधारण को लेकर अभी से ही सभी आवश्यक कदम उठाना शुरू कर दे।किसी भी आयोजन में कोविड गाइड लाइन का पूरी तरह से पालन हो,इसे हर हाल में सुनिश्चित करे।

मधनिषेध को प्रभावी रूप से लागू करने को लेकर सख्त से सख्त कदम उठाए। अवैध शराब या कारोबारियों को लेकर पूरी सतर्कता बरते। ओभर लोडिंग को लेकर सघन जाँच अभियान चलाए। उन्होंने कहा कि खनन,परिवहन एवम उत्पाद की टीम संयुक्त रूप से छापेमारी एवम सघन जाँच अभियान चलाए। नदियों से अवैध बालू एवम मिट्टी की कटाई पर कड़ी नजर रखे। सड़क सुरक्षा एवम जाम की समस्या को लेकर भी पुलिस की अपनी जबाबदेही है । इसे प्राथमिकता के साथ कार्ययोजना बनाकर कार्य करे।

उन्होंने कहा कि बालू-गिट्टी 10 या 12 चक्का के ट्रक से ढुलाई करना है, अगर अधिक चक्का के ट्रक से ढुलाई हो रही है तो उसे जप्त करे।ज्यादा दुर्घटना वाले स्थलों को चिन्हित कर दुर्घटनाओं के कारणों की जाँच करे,एवम उसके निदान हेतु प्रस्ताव भी दे। उक्त बैठक में एसपी अनिल कुमार,एडीएम विभागीय जाँच महेश कुमार दास,निर्देशक डीआरडीए,मुमुक्ष चौधरी सहित कई वरीय अधिकारी उपस्थित थे।