कांग्रेस के पूर्व प्रधानमंत्री पी वी नरसिम्हा राव की पुत्री सुरभि वाणी देवी एमएलसी चुनाव में टीआरएस की उम्मीदवार घोषित हुई

हैदराबाद /तेलंगाना/अंकिता राय: तेलंगाना विधान परिषद के लिए हैदराबाद रंगा रेड्डी महबूबनगर स्नातक सीट के लिए नामांकन पत्र दाखिल किया गया। इसमें टीआरएस की वाणी देवी प्रमुख है। तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने ग्रैजुएट एमएलसी चुनाव के लिए कांग्रेस के पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिंहा राव की बेटी सुरभि वाणी देवी को पार्टी का उम्मीदवार घोषित कर सभी को अचंभित कर दिया है।



सूत्रों की माने तो इसकी कई वजह हैं। पिछले कुछ वर्षों से तेलंगाना में कांग्रेस की स्थिति अत्यंत दयनीय हो गई है और कांग्रेस पार्टी के कई बड़े नेता पार्टी छोड़कर अन्य दलों का दामन थाम रहे हैं। ऐसे में सुरभि वाणी देवी को उम्मीदवार बनाकर कांग्रेस के वोट बैंक को खुद की तरफ मोड़ने की चाल चली है । कांग्रेस पार्टी ने प्रधानमंत्री पी वी नरसिम्हा राव के साथ अच्छा सलूक नहीं किया था । तेलंगाना के इस महान सपूत को जो राष्ट्रीय सम्मान मिलना चाहिए था वह नहीं मिल पाया ।ऐसे में केसीआर ने पिछले साल पूरे राज्य में टीवी शतजयंती मनाने की घोषणा की थी। मुख्यमंत्री केसीआर उनके लिए भारत रत्न की मांग भी कर चुके हैं।

टीआरएस प्रमुख वनी वाणी देवी को पार्टी का उम्मीदवार बनाकर लोगों को यह संकेत देना चाहते हैं कि नरसिम्हा राव की विरासत को आगे बढ़ाने का काम कांग्रेस ने भले ही नहीं किया, किंतु अब टीआरएस यह काम करेगी।

बताते चलें कि हैदराबाद रंगारेड्डी महबूबनगर ग्रेजुएट चुनाव में भाजपा उम्मीदवार रामचंद्र राव एक मजबूत उम्मीदवार हैं और उनको टक्कर देने के लिए वाणी देवी को उम्मीदवार बनाया गया है। तेलंगाना में भाजपा एक मजबूत विपक्ष की तरह उभर कर आई है और यह टीआरएस के लिए अच्छे संकेत नहीं है।