15.1 C
Delhi
Homeट्रेंडिंगपटरी पर लौट रहा इकोनॉमी का इंजन, साल 2021-22 में 9.2 फीसदी...

पटरी पर लौट रहा इकोनॉमी का इंजन, साल 2021-22 में 9.2 फीसदी रह सकती है देश की GDP

- Advertisement -

सेंट्रल डेस्क: मौजूदा चालू वित्त वर्ष 2021-22 में जीडीपी 9.2 फीसदी रहने का अनुमान है. केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) ने सालाना जीडीपी ग्रोथ का पहला अग्रिम अनुमान मंगलवार को जारी किया. बीते वित्त वर्ष 2020-21 में जीडीपी ( माइनस) – 7.3 फीसदी रहा था. हालांकि सरकार द्वारा जो आंकड़े जारी किए गए हैं वो आरबीआई के अनुमान 9.5 फीसदी से कम है.

सांख्यिकी मंत्रालय के जीडीपी के इन आंकड़ों का इस्तेमाल बजट बनाने में बेस के तौर पर इस्तेमाल किया जाएगा. इन आंकड़ों के मुताबिक 2021-22 में कृषि क्षेत्र 3.9 फीसदी के दर से ग्रोथ दिखाएगा जबकि 2020-21 में 3.6 फीसदी रहा था. वहीं मैन्युफैकचरिंग सेक्टर 12.5 फीसदी के दर से विकास करेगा जबकि 2020-21 में ये सेक्टर – 7.2 फीसदी रहा था.

माइनिंग और क्वैरिंग 2021-22 में 14.3 फीसदी के दर ग्रोथ दिखाएगा जबकि 2020-21 में ग्रोथ रेट -8.5 फीसदी रहा था. इलेक्ट्रिसिटी, गैस, वाटर सप्लाई और दूसरे यूटिलिटी का ग्रोथ रेट 8.5 फीसदी रहने का अनुमान है जबकि 2020-21 में 1.9 फीसदी से दर से विकास किया था.

कंस्ट्रक्शन क्षेत्र 10.7 फीसदी के दर से 2021-22 में विकास करेगा जबकि 2020-21 -8.6 फीसदी के दर से विकास करेगा. ट्रेड होटल्स, ट्रांसपोर्ट, कम्यूनिकेशन, ब्रॉडकास्टिंग से जुड़े सर्विसेज 11.9 फीसदी के दर से विकास करेगा जबकि 2020-21 में – 18.2 फीसदी विकास दर रहा था.

फाइनैंशियल, रियल एस्टेट और प्रोफेशनल सर्विसेज 4 फीसदी के दर से विकास करेगा जबकि 2020-21 में माइनस 1.5 फीसदी विकास दर रहा था. पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन,डिफेंस और दूसरे सर्विसेज 10.7 फीसदी के दर से विकास करेगा जबकि 2020-21 में माइनस 4.6 फीसदी विकास दर रहा था.

- Advertisement -






- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -