वक्त आ गया है टीएमसी के भ्रष्टाचार व हिंसा संस्कृति को खत्म करने का: दिनेश त्रिवेदी

-पूर्व टीएमसी सांसद ने ममता पर बोला हमला व पीएम मोदी की तारीफ की



सेंट्रल डेस्क/ नई दिल्ली : हाल ही में राज्यसभा में ही इस्तीफे की घोषणा करने वाले तृणमूल सांसद व पूर्व रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) पर सीधा हमला बोलते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ पार्टी का ‘भ्रष्टाचार और हिंसा मॉडल’ अब काम नहीं करेगा। 

उन्होंने टीएमसी प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा शुरू की गई बाहरी-स्थानीय बहस को बंगाल के उदारवादी लोकाचार का विरोधी करार दिया। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता को देखते हुए उनकी सराहना की और कहा कि लोगों ने उनके नेतृत्व में विश्वास किया है। हालांकि त्रिवेदी ने अपनी राजनीतिक भविष्य का खुलासा नहीं किया।

त्रिवेदी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में जारी हिंसा और इस बारे में कुछ भी कर पाने में अपनी असमर्थता के कारण उन्हें “घुटन” महसूस हो रही है। उन्होंने कहा कि बंगाल में हम नायकों और उनके आदर्शों के बारे में बात तो करते हैं लेकिन हम जो देखते हैं वह उसके विपरीत है। हिंसा और भ्रष्टाचार का मॉडल (टीएमसी का) बंगाल के लिहाज से सही नहीं है। यह मॉडल बंगाल को अंधेरे दिनों में ले जाएगा। हम इसे बेकार होते नहीं देख सकते। 

पूर्व टीएमसी सांसद ने कहा कि राज्य में जो कुछ हो रहा था, एक जनप्रतिनिधि के रूप में वह उसकी अनदेखी नहीं कर सकते थे। उन्हें शर्म महसूस हुई जब लोगों ने उनसे राज्य में हिंसा की संस्कृति के बारे में सवाल किया और इसने उनकी अंतरात्मा को ‘झकझोर’ दिया और उन्होंने दृढ़ रुख अख्तियार कर लिया।

उन्होंने कहा कि मुझे बंगाल के लोगों के लिए अपने तरीके से काम करना चाहिए, लेकिन टीएमसी मुझे ऐसा करने की अनुमति नहीं दे रही है। अब समय आ गया है कि हम तृणमूल के मॉडल और भ्रष्टाचार तथा हिंसा की संस्कृति को समाप्त करें। इसके लिए ममता शासन को उखाड़ फेंकना होगा।