भारत फाइनेंस इन्कुजन के कर्मी से लूट मामले में दो गिरफ्तार

बेतिया/अवधेश कुमार शर्मा: पश्चिम चम्पारण के बेतिया पुलिस जिला के नवलपुर ओपी क्षेत्र अंतर्गत पांच दिन पूर्व संध्या 7 बजे भारत फाईनेंस इन्कुजन लिमिटेड के एक कर्मी से अज्ञात अपराधियों ने हथियार के बल पर एक लाख बाइस हजार नगद और एक टैब मोबाइल लूट ली गई थी। जिसको लेकर पुलिस अधीक्षक उपेन्द्र नाथ वर्मा स्वयं गंभीरता से उद्भेदन और लुटेरों की गिरफ्तारी के लिए स्वयं अपनी निगरानी में एक विशेष टीम का गठन किया। वहीं टीम का नेतृत्व अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सदर मुकुल परिमल पांडेय द्वारा किया जा रहा था।


हालांकि तत्काल बेतिया पुलिस को सफलता नहीं मिली लेकिन पुलिस अधीक्षक उपेन्द्र नाथ वर्मा द्वारा तकनीकी और मैनुअली रुप से लगातार प्रयास किया जा रहा, जिसके आलोक में गुप्त सूचना प्राप्त हुई कि उपर्युक्त कांड में संलिप्त अपराधियों द्वारा पुनः कोई घटना को अंजाम देने के शनिचरी ओपी में योजना बना रहे हैं। सूचना मिलने के साथ ही पुलिस टीम ने ओपी अंतर्गत सिकटा वुजा गांव में छापामारी किया गया। जहाँ से लूट की घटना में शामिल शनिचरी ओपी क्षेत्र के प्रकाश ठाकुर एवं प्रभार ठाकुर को रंगे हाथ लोडेड पिस्टल और मोबाइल के साथ गिरफ्तार किया गया।

गिरफ्तारी के पश्चात उन्होंने कांड में संलिप्तता स्वीकार करते हुए, अपने गिरोह के सदस्य मनोज साह एवं अन्य के सहयोग से लूटने की बताई गई। पुनः गिरफ्तार अपराधियों द्वारा यह बताया गया कि बेतिया शहर में एक बड़ी कैश लूट को अंजाम देने की योजना बनाई जा रही है चुकी थी। अपराधियों के निशानदेही पर योगापट्टी के सेहुड़वा के मनोज साह के घर छापामारी कर मनोज साह को उसके घर से ही एक आॅटोमेटीक लोडेड पिस्टल, तीन अन्य आग्नेयास्त्र व गोली, दाब, डाईगर छुरा, मोबाइल व टैब के साथ गिरफ्तार किया गया।

जिसपर वहाँ के स्थानीय ग्रामीणों के द्वारा औरतों का सहारा लेकर पुलिस टीम पर हमला किया गया और भीड़ का सहारा लेकर मनोज साह भागने में कामयाब रहा। जिसको लेकर दस नामजद और 20-25 अज्ञात लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गई और उनमें से भगाने वाले दो आरोपी अयोध्या साह व रामेश्वर साह को तत्काल गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तारी टीम में तकनीकी शाखा प्रभारी खालिद अख्तर, पुअनि अरविंद कुमार एवं शनिचरी ओपी थानाध्यक्ष सज्जाद गद्दी के साथ अन्य पुलिस शामिल रहें।