पांच राज्यों के चुनाव में भाजपा को वोट न देने की अपील करेगा संयुक्त किसान मोर्चा

-भाजपा को हराने वाले प्रत्याशी को वोट देने की अपील की जाएगी
-15 मार्च तक के लिए किसान आंदोलन के कार्यक्रम की घोषणा

सेंट्रल डेस्क/ नई दिल्ली: देश के पांच राज्यों में अगले महीने से विधानसभा चुनाव होने जा रहे है इन राज्यों में भाजपा मजबूती से चुनाव लड़ रही है। इस बीच संयुक्त किसान मोर्चा ने घोषणा की है कि वो पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा को वोट न देने की अपील करेंगे।

भारतीय किसान यूनियन के बलबीर एस राजेवाल ने कहा कि हम पश्चिम बंगाल और केरल में चुनावों के लिए दल भेजेंगे। हम किसी भी पार्टी का समर्थन नहीं करेंगे लेकिन लोगों से अपील करेंगे कि वे उन उम्मीदवारों को वोट दें जो भाजपा को हरा सकते हैं। हम लोगों को किसानों के प्रति मोदी सरकार के रवैये के बारे में बताएंगे।

संयुक्त किसान मोर्चा के योगेंद्र यादव ने कहा कि 10 ट्रेड संगठनों के साथ हमारी मीटिंग हुई है। सरकार सार्वजनिक क्षेत्रों का जो निजीकरण कर रही है उसके विरोध में 15 मार्च को पूरे देश के मज़दूर और कर्मचारी सड़क पर उतरेंगे और रेलवे स्टेशनों के बाहर जाकर धरना प्रदर्शन करेंगे। 

संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा कि सरकार की तरफ से इस आंदोलन को समाप्त करने का प्रयास किया गया था। केंद्र सरकार में हरियाणा के जो तीन केंद्रीय मंत्री हैं, उन मंत्रियों का उनके गांव में प्रवेश पर रोक लगा दी जाएगी। 

योगेंद्र यादव ने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा की आज बैठक में हमने 15 मार्च तक कार्यक्रमों को अंतिम रूप दे दिया है। छह मार्च को किसान आंदोलन के 100 दिन पूरे होंगे। इस दिन किसान सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे के बीच कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेसवे को अलग-अलग स्थानों पर रोकेंगे। 

इसी तरह आठ मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर सभी प्रदर्शन स्थलों पर महिला प्रदर्शनकारियों को सामने लाया जाएगा। पांच मार्च से कर्नाटक में एमएसपी दिलाओ आंदोलन शुरू किया जाएगा, जिसमें पीएम से फसलों के लिए एमएसपी सुनिश्चित करने को कहा जाएगा।