10.1 C
Delhi
Homeट्रेंडिंगUP के मुख्यमंत्री ने दलित के घर खाया खाना, मांझी बोले- कब...

UP के मुख्यमंत्री ने दलित के घर खाया खाना, मांझी बोले- कब तक छीनोगे हमारा निवाला

- Advertisement -

स्टेट डेस्क: बिहार की सियासत में जीतन राम मांझी हर रोज नए सियासी बयान देकर हंगामा खड़ा करते रहते हैं । नया मामला यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के दलित के घर खाना खाने से जुड़ा है। जीतन राम मांझी ने सोशल मीडिया के जरिए बिना नाम लिए योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है । उन्होंने दलितों के घर खानेवालों नेताओं को दलितों का निवाला छीननेवाला करार दिया है ।

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के निशाने पर इन दिनों भाजपा है । वजह यूपी चुनाव माना जा रहा है , जहां मांझी की पार्टी हम को एनडीए में एंट्री नहीं मिल पा रही है । लिहाजा गुस्सा खूब दिख रहा है और सबसे ज्यादा ये सोशल मीडिया के जरिये सामने आ रहा है । मकर संक्रांति पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में दलित परिवार के साथ भोजन किया।

इसकी तस्वीरें जैसे ही सामने आईं तो यूपी की राजनीति में बयानी राजनीति तेज हो गई। लेकिन बिहार भी इससे अछूता नहीं रहा । पूर्व मुख्यमंत्री ने बिना नाम लिए सोशल मीडिया पर चुनाव के समय नेताओं के दलितों के घर में भोज खानेवालों को दलितों का निवाला छीनने वाला करार दिया ।

जीतन राम मांझी के इस बयानी हमले पर भाजपा ने भी पलटवार किया है । भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रेमरंजन पटेल ने मांझी के अंदाज में ही पूर्व मुख्यमंत्री को जवाब दिया है । प्रेमरंजन पटेल ने कहा कि कुछ लोग दिखावटी नारा देते हैं , कुछ लोग सही में काम करते हैं।

दलित राजनीति के कुछ चेहरे केवल अपने परिवार तक सीमित है उन्हें कभी परिवार से उपर उठकर भी देखना चाहिए । ऐसे लोग वोटबैंक की राजनीति से उपर उठेंगे, तभी वास्तविक विकास देख पाएंगे । जहां तक मांझी जी की बात है उन्हें बिहार एनडीए ने उम्मीद से ज्यादा सम्मान दिया है ।

- Advertisement -






- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -