कोरोना से निपटने में विफल रही सरकार, धरने पर बैठे उपेंद्र कुशवाहा

पटना : कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच बिहार में राजनीति भी खूब गर्म है। राजद तो विभिन्न मुद्दों पर सरकार को घेर ही रहा अब रोलासपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा भी आगे आ गये हैं। उपेन्द्र कुशवाहा बुधवार को पार्टी दफ्तर के बाहर कार्यकर्ताओं के साथ धरने पर बैठ गए।


कुशवाहा ने सरकार पर कोरोना से निपटने में विफल रहने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि जब लॉकडाउन था तब हम घरों में बंद थे। लेकिन, अब यह फैसला लिया है कि घर में बंद रहने से काम नहीं चलने वाला।

कुशवाहा ने कहा लॉकडाउन पूरी तरह फेल है। सरकार की बदइंतजामी के चलते यह बीमारी तेजी से फैल रही है। कोरोना से लड़ाई सरकार के भरोसे संभव नहीं है। हमें अपनी सुरक्षा खुद करनी होगी, तभी कोरोना से बच पाएंगे।

कुशवाहा ने कहा कि क्वारंटाइन सेंटर में लोग नर्क जैसी जिंदगी जीने को विवश हैं। लोग भुखमरी के शिकार हो रहे हैं। बाहर से आए मजदूरों को रोजगार कैसे मिलेगा। इन सब मुद्दों को लेकर हम सरकार को ध्यान दिलाना चाहते हैं।

हमने पहले भी सुझाव दिया था लेकिन सरकार ने अमल नहीं किया। हमारी मांग है कि क्वारंटाइन सेंटर की स्थिति को सुधारा जाए। सरकार अगर इस पर ध्यान नहीं देती है तो आगे आंदोलन और तेज होगा।