जम्मू-कश्मीर में एमआई-17 क्रैश, कानपुर का लाल दीपक पांडेय शहीद

0
80

कानपुर (अर्जित दीक्षित): देश की सरहद की रक्षा करते हुए कानपुर का एक और लाल शहीद हो गया। कश्मीर के बडग़ाम क्षेत्र में हादसाग्रस्त हुए एमआइ-17 में शहीद हुए दीपक पांडेय कानपुर के मंगला विहार रहने वाले थे। परिवार के इस इकलौते बेटे की कुर्बानी की खबर जैसे ही यहां पहुंची घर में कोहराम मच गया।

दोपहर करीब एक बजे रामप्रकाश पांडेय के पास श्रीनगर एयरबेस से एक फोन आया, जिसमें उन्हें बताया गया कि एमआइ-17 चॉपर क्रैश हो गया है, जिसमें उनके बेटे दीपक भी सवार थे। हादसे में उनकी मौत हो गई है। इकलौते बेटे के निधन की खबर सुनकर घर में कोहराम मच गया।

दीपक पांडेय चकेरी क्षेत्र के मंगला विहार निवासी थे। उनके पिता राम प्रकाश पांडेय प्राइवेट नौकरी से सेवानिवृत्त हुए हैं। परिजनों ने बताया कि दीपक पांडेय पांच साल पहले ही भारतीय वायु सेना का हिस्सा बने थे। इस समय उनकी तैनाती श्रीनगर एयरबेस में थी। शहादत की खबर मिलते ही शहीद दीपक पांडेय के घर लोगों की भीड़ जमा होनी शुरू हो गई थी।

शहीद दीपक पांडेय

दीपक की श्रीनगर एयरबेस में तैनाती थी। दीपक ने कुछ साल पहले ही वायुसेना की नौकरी ज्वाइन की थी। एयरफोर्स में टेक्नीशियन थे. खबर मिलते ही कानपुर के जिलाधिकारी विश्वास पंत और यूपी सरकार में मंत्री सतीश महाना शहीद के घर पहुंचे और परिवार को ढांढस बंधाया।

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर के बडगाम में वायुसेना का हेलीकॉप्टर बुधवार को क्रैश हो गया है। एमआई-17 ट्रांसपोर्ट चॉपर ने श्रीनगर से उड़ान भरी थी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हादसे में दोनों पायलट की जान चली गई।

बडगाम के एसएसपी का कहना है, “कुछ विमान गिरे हैं। अभी हम कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं हैं। यहां तकनीकी टीम है, वो तथ्य पता लगाएंगे। हमने दो शव बरामद किए हैं। अभी खोज चल रही है।”