दो कोविड अस्पतालों में बढ़ेंगे 600 और बेड़

कानपुर / अनू अस्थाना : बेड़ न मिलने की वजह से कोरोना से मरने वालों की संख्या में लगातार बढ़ रही है। 25 अस्पतालों को कोविड स्टेटस का दर्जा देने के बाद भी हालात सुधारते नजर नहीं आ रहे है। समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है कई अस्पतालों में तो बेड़ होने के बाद भी मरीजों बेड़ की समस्या बताकर वापस किया जा हैं। इसको लेकर प्रशासन की ओर से लगातार औचकनिरिक्षण किए जा रहे हैं, बावजूद इसके प्राइवेट हाॅस्पिटल के कर्मचारी बाज आने का नाम नहीं ले रहे हैं। ऐसे में कमिश्नर डॉ. राज शेखर ने शहर के दो बड़े कोरोना हॉस्पिटल नारायणा और रामा में करीब 600 बेड़ और बढ़ाए जाने का प्रस्ताव शासन को भेजा है।


माना जा रहा है कि अगले हफ्ते तक इन अस्पतालों में धीरे धीरे करके बेडों की संख्या बढ़ाई जाएगी। जितने बेड बढ़ाए जाएंगे उससे पहले उनके लिए ऑक्सीजन व अन्य चिकित्सकीय उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाएगी। जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए तीन स्तर पर बेडों की व्यवस्था की जाएगी। पहले चरण में प्रशासन आवश्यकतानुसार निजी अस्पतालों को अधिग्रहित कर उन्हें कोविड स्टेटस का दर्जा देगा। जब निजी अस्पताल कम पड़ जाएंगे तो रामा और नारायणा में 600 अतिरिक्त बेड़ की व्यवस्था होगी। इसके भी राहत न मिली तो तीसरे चरण में निराला नगर स्थित रेलवे ग्राउंड में अस्थायी कोविड हॉस्पिटल बनाया जाएगा।

कमिश्नर डॉ. राज शेखर ने बताया कि यह भविष्य को देखते हुए तैयारी की जा रही है। माना जा रहा है कि अगले कुछ हफ्तों में संक्रमण अपने चरम पर होगा। इसके बाद सितंबर में इसकी तीसरी लहर आ सकती है। अभी प्लान करेंगे तब जाकर उस दौर की स्थिति से निपटने में सक्षम होंगे।