कमिश्नरी लागू होते ही एक्शन में आयी एसीपी कोर्ट

कानपुर/अखिलेश मिश्रा : कमिश्नरी प्रणाली एक्टिव होते ही खाकी की कार्यशैली बदल गयी है। पहली बार दो झगडा करने वाले लोगों को एसीपी कोर्ट में लाया गया। जहां सुनवायी के बाद उन्हें जेल भेज दिया गया। पूरा प्रकरण अर्मापुर थाना क्षेत्र का है। यहां पर विजय नगर स्थित चैराहे पर पनकी रतनपुर निवासी मनोज यादव व ओमप्रकाश दोनों टैम्पों चालक सवारी बैठाने को लेकर आपस में झगड़ गये। देखते ही देखते दोनों के बीच जमकर मारपीट हुई।


सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों को पकडकर शन्तिभंग की धारा के अन्तर्गत चालान कर दिया। उसके बाद दोनों पक्षों के तीन लोगों को लेकर एसीपी कार्यालय पर आयी और सभी को पेश किया। कोर्ट को पुलिस ने बताया कि यह लोग अक्सर सवारी को लेकर विवाद पैदा करते है। जिससे मारपीट होती है। पुलिस की रिपोर्ट के आधार पर कोर्ट ने जेल भेज दिया। इसके अलावा तीन एसीपी कोर्ट ने 27 चालानी रिपोर्ट में 36 आरोपियों को जमानत पर रिहा कर दिया।