सीबीआइ इंस्पेक्टर की पत्नी का फंदे से लटका मिला शव, मोबाइल फोन खोलेगा राज

कानपुर/स्टेट डेस्क : कानपुर के पटकापुर फीलखाना में सीबीआइ इंस्पेक्टर की पत्नी ने दुपट्टे के फंदे से फांसी लगाकर जान दी। वह मायके फीलखाना थाना क्षेत्र के पटकापुर में अलग किराये के कमरे में रह रही थीं। उनकी 12 वर्षीय बेटी ने पड़ोसियों को सूचना दी। इसके बाद पहुंची पुलिस ने कमरे की कुंडी तोड़कर शव फंदे से उतारा। पुलिस ने महिला का फोन कब्जे में लिया है।

बंगाली मोहाल निवासी सोनी कश्यप ने दो वर्ष पूर्व राजस्थान के भरतपुर निवासी विशाल चौधरी से प्रेम विवाह किया था। सोनी की मां कामिनी ने बताया कि विशाल सीबीआइ में सब इंस्पेक्टर है और बेंगलुरु में तैनात है। पुलिस के मुताबिक सोनी पहले से शादीशुदा थी और फर्रुखाबाद निवासी पहले पति राहुल से उसकी 12 वर्ष की एक बेटी पीहू है। साथ ही विशाल भी पहले से शादीशुदा था।

बेटी पीहू ने बताया कि शनिवार रात मां सोनी का पिता विशाल से फोन पर झगड़ा हो रहा था। इसके बाद मां ने कमरा अंदर से बंद करके दुपट्टे के सहारे पंखे से फंदा लगाकर फांसी लगा ली। कुछ देर बाद उसने मां को आवाज दी। दरवाजा न खुलने पर पड़ोसियों को बताया। उन्होंने पुलिस को बुलाया। देर रात सूचना पर बंगाली मोहाल निवासी मायके वाले भी पहुंचे। थाना प्रभारी सतीशचंद्र साहू ने बताया कि मौके पर कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। महिला के फोन को कब्जे में लेकर कॉल डिटेल निकलवाई जा रही है। मायके वालों की तहरीर पर जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।
पहले पति ने दिया तलाक, दूसरे ने भी छोड़ा

मायके वालों ने बताया कि फर्रुखाबाद निवासी राहुल से शादी के बाद करीब 11 वर्ष तक दोनों साथ रहे। इसके बाद विवाद पर राहुल ने सोनी से तलाक ले लिया था। एक अधिवक्ता के जरिए सोनी की मुलाकात विशाल से हुई थी। विशाल भी अपनी पत्नी को छोड़ चुका था, इसलिए उसने सोनी से शादी का प्रस्ताव रखा तो वह तैयार हो गई। आरोप है कि कुछ माह बाद विशाल से भी मनमुटाव शुरू हो गया था। चार माह पूर्व सोनी उसे छोड़कर मायके आ गई और पटकापुर में कमरा किराये पर लेकर रहने लगी थी।