29.1 C
Delhi
Homeउत्तर प्रदेशकानपुरकोरोना में सेवा करने डॉक्टर्स हुए सम्मानित, डॉक्टर्स डे पर आईएमए में...

कोरोना में सेवा करने डॉक्टर्स हुए सम्मानित, डॉक्टर्स डे पर आईएमए में लाइब्रेरी, कांफ्रेस हाल का उद्घाटन

- Advertisement -

कानपुर : कोरोना की दूसरी लहर में अपनी जान जोखिम में डाल कर मरीजों की सेवा करने वाले डॉक्टर्स को आज डॉक्टर्स डे के मौके पर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन हाल में सम्मानित किया गया। इस अवसर पर सांसद सत्यदेव पचैरी ने आईएमए भवन में लाइब्रेरी और कांफ्रेंस हाल का उद्घाटन करते हुए कहा कि कोविड काल में कानपुर सहित देश भर में डॉक्टरों ने मरीजों की जो सेवा की है, वह प्रशंसनीय है। उसे कभी भी भुलाया नहीं जा सकता है।

डाक्टर्स डे के अवसर पर आज कानपुर नगर के सांसद सत्यदेव पचैरी की सांसद निधि से निर्मित लाइब्रेरी एवं कांफ्रेस हाल का उद्घाटन स्वयं सांसद ने किया। सांसद को इस मौके पर आईएमए की तरफ से सम्मानित भी किया गया। सांसद ने कहा कि आईएमए की कानपुर शाखा बहुत अच्छा काम कर रही है। ब्लड बैंक सहित कई जनता को कई तरह की विशिष्ट चिकित्सा सेवाएं दे रही है। उन्होंने आईएमए को अपने स्तर से पूरा सहयोग देने का आश्वासन दिया।

इस अवसर पर आईएमए के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रो. डॉ जेए जयलाल ने ऑनलाइन जुड़ते हुए आईएमए की कानपुर शाखा के सदस्यों को संबोधित किया। उन्होंने कोविड की दूसरी लहर में पूरे देश में चिकित्सकों के कामों की सराहना करते हुए तीसरी लहर आने पर इससे भी अधिक ऊर्जा के साथ सेवा करने आह्वान किया।

आईएमए कानपुर शाखा की अध्यक्ष डॉ नीलम मिश्रा ने अतिथियों सहित सभी आगंतुकों का स्वागत किया। भवन समिति के चेयरमैन डॉ संतोष कुमार ने नए भवन की निर्माण प्रक्रिया पर प्रकाश डाला। भवन समिति के संयोजक पूर्व अध्यक्ष डॉ एस के मिश्रा ने पुराने जीर्णशीर्ण आईएमए भवन से लेकर नए भवन की यात्रा के विषय में बताया।

डॉक्टर्स डे के अवसर पर आज आईएमए भवन के निर्माण हेतु आर्थिक सहयोग करने वाले आईएमए कानपुर के सदस्यों, विधायक गण, औद्योगिक घरानों, आईएमए के पूर्व अध्यक्षों, कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान सराहनीय कार्य करने वाले चिकित्सकों को सम्मानित किया गया जिनमें मुख्य रूप से डॉ एस के मिश्रा, डॉ आर एन चैरसिया, डॉ अल्का शर्मा, डॉ ए एस प्रसाद, डॉ विनय वर्मा, डॉ उमेश पालीवाल, डॉ ए सी अग्रवाल, डॉ ए के त्रिवेदी, डॉ अर्चना भदौरिया, डॉ वी के कपूर, डॉ मोहम्मद अहमद, डॉ सी निहलानी, डॉ कुलदीप सक्सेना, डॉ एस के कटियार, डॉ प्रवीन कटियार, डॉ आर पी एस भदौरिया, डॉ गौरवनाथ भल्ला आदि थे।

कोविड-19 की दूसरी लहर में इनका रहा महत्वपूर्ण योगदान
डॉ आरबी कमल, पूर्व प्राचार्य, जीएसवीएम मेडिकल कालेज, कानपुर, डॉ रिचा गिरी, उप प्राचार्य एवं एसआईसी, जीएसवीएम मेडिकल कालेज, कानपुर, डॉ पियूष मिश्रा, सीनियर कसंलटेंट फिजीशियन, काशीराम ट्रामा सेंटर, कानपुर, डॉ दिनेश सिंह सचान, सीएमएस, काशीराम ट्रामा सेंटर, डॉ अनिल कुमार वर्मा, विभागाध्यक्ष, एनस्थीसिया विभाग, जीएसवीएम, डॉ मनीष सिंह, विभागाध्यक्ष, न्यूरो सर्जरी विभाग, जीएसवीएम, डॉ सौरभ अग्रवाल, मेडिसिन विभाग, जीएसवीएम, डॉ विकास मिश्रा, प्रोफेसर, माइक्रोबायोलाजी विभाग, जीएसवीएम, डॉ संतोष कुमार सिंह, नोडल आफीसर फार एडमीशन इन कोविड-19 वार्ड, जीएसवीएम, डॉ मीरा अग्निहोत्री, पूर्व विभागाध्यक्ष, स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग, जीएसवीएम, डॉ किरन पाण्डेय, विभागाध्यक्ष, स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग, जीएसवीएम, डॉ नीना गुप्ता, प्रोफेसर, स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग, जीएसवीएम, डॉ अतुल कपूर, रीजेंसी हास्पिटल, डॉ आरके लूम्बा एवं डॉ मधु लूम्बा, मधुराज हास्पिटल, डॉ एच एस चावला, कानपुर मेडिकल सेंटर, डॉ दीपक श्रीवास्तव, जीटीबी हास्पिटल, डॉ एम के सरावगी, न्यू लीलामणि हास्पिटल, डॉ आदित्य त्रिपाठी, एसआईएस हास्पिटल, डॉ विकास शुक्ला, ग्रेस हास्पिटल, डॉ सीके सिंह, चांदनी हास्पिटल, डॉ मनीष वर्मा, फारचून हासिप्टल, डॉ संजय गुप्ता, आभा हास्पिटल, डॉ प्रदीप त्रिपाठी, रतनदीप हास्पिटल, डॉ अमित द्विवेदी, द्विवेदी हास्पिटल, डॉ चमन कुमार, न्यू कानपुर सिटी हास्पिटल, और डॉ विकास सेंगर, मेडिहेल्प हासिप्टल।

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -