खाली बाजारें, बंद दुकानें पर जरूरतमंदों के लिए खुला रहा दिल

कानपुर/फैज़ान हैदर : वैश्विक महामारी कोरोना वायरस की चपेट में आने से उत्तर प्रदेश का भी बुरा हाल है। लखनऊ, प्रयागराज, कानपुर और वाराणसी समेत कई शहरों में हर दिन बड़ी संख्या में मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में उत्तर प्रदेश सरकार बढ़ते मामलों पर रोक लगाने के लिए लगातार बड़े फैसले ले रही है।


सप्ताह में तीन दिन के लॉकडाउन के पहले ही दिन बाजारों से लेकर गलियों तक पूरी तरह सन्नाटा रहा। सड़कों पर जरूरी काम से ही लोग निकलते दिखाई दिए, जिन्हें अपने परिवार में बीमार किसी की दवा लेनी थी या उन्हें अस्पताल में भर्ती करना था। लोग बेवजह सड़कों पर नजर ना आएं, इसके लिए प्रमुख चौराहों पर पुलिस भी तैनात रही।

तीन दिन के इस कर्फ्यू के पहले दिन बड़ा चौराहा पर आने-जाने वाले वाहनों से पुलिस रोक कर पूछताछ करती दिखाई दी। उचित कारण होने पर ही उन्हें जाने दिया गया। बंदी की घोषणा करने के बाद भी खुली रहने वाली नयागंज की तमाम दुकानें, कपड़ा बाजार की दुकानों के शटर गिरे हुए नजर आए।